जम्मू-कश्मीर : उरी ऑपरेशन में 3 आतंकी ढेर, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद

September 24th, 2021

हाईलाइट

  • उरी ऑपरेशन में 3 आतंकी ढेर, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के उरी सेक्टर में गुरुवार को सेना के चार दिवसीय अभियान में भारी हथियारों से लैस तीन घुसपैठिए मारे गए। उरी तहसील में रामपुर सेना मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में, जहां 19 इन्फैंट्री सेना डिवीजन के जीओसी मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स भी मौजूद थे, 3 राजपूत रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल मनीष पंज ने कहा कि उरी सेक्टर में एक ऑपरेशन में घुसपैठिए मारे गए हैं।

बयान में कहा गया है, एलओसी के साथ लगते एक विशाल क्षेत्र में घेराबंदी और तलाशी अभियान के दिनों के बाद आज (गुरुवार) हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। बयान के अनुसार, निगरानी बढ़ाने के बाद, उरी के हाथलंगा इलाके में सुबह 6 बजे आतंकवादियों के समूह को रोके जाने के बाद उन्हें चुनौती दी गई। पंज ने कहा, एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद तीन आतंकवादी मारे गए।

सेना ने कहा कि मारे गए तीन आतंकवादी भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद लिए हुए थे, जिसमें पांच एके-47 राइफल, सात पिस्तौल, 5 एके मैगजीन, 24 यूबीजीएल ग्रेनेड, 38 चीनी ग्रेनेड, सात पाकिस्तान निर्मित ग्रेनेड, 35,000 रुपये पाकिस्तानी मुद्रा और कुछ खाद्य पदार्थ शामिल हैं। मेजर जनरल वत्स ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों में से अब तक केवल एक पाकिस्तानी की पहचान की गई है। उन्होंने कहा, अन्य दो की पहचान का पता लगाया जा रहा है।

यह पूछे जाने पर कि क्या घुसपैठ का अफगानिस्तान से कोई संबंध है, जीओसी ने कहा, सेना सतर्क है और हम सितंबर के महीने में पाकिस्तान के व्यवहार में बदलाव की उम्मीद कर रहे हैं और सर्दियों की शुरूआत से पहले घुसपैठ की संभावना है। उन्होंने कहा, मैं इसे भू-राजनीति से नहीं जोड़ना चाहूंगा। हम ऐसे सभी प्रयासों को विफल करने के लिए तैयार हैं। मेजर जनरल वत्स ने कहा कि इलाके में चल रहे उरी ऑपरेशन को समाप्त कर दिया गया है। कुछ आतंकवादियों द्वारा सेक्टर में एलओसी पर घुसपैठ करने की खबरों के बाद अधिकारियों ने उरी में मोबाइल टेलीफोनी और इंटरनेट को भी निलंबित कर दिया था।

(आईएएनएस)