टच द स्काई विद ग्लोरी: 1971 के युद्ध में भारत की विजय के 50 वर्ष पूरे, आकाश में दिखा वायु सेना का शौर्य

October 12th, 2021

हाईलाइट

  • टीम का आदर्श वाक्य 'ऑलवेज द बेस्ट' है

डिजिटल डेस्क, मेरठ। 1971 के युद्ध में भारत की पाक पर विजय के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आज आकाश में नौ विमानों ने कलाबाजी दिखाते हुए संरचना बनाकर वायु सेना के शौर्य का अभूतपूर्व प्रदर्शन किया। भारतीय वायु सेना के राजदूत के रूप में जाने जाने वाली भारतीय वायु सेना गठन एरोबेटिक इकाई सूर्यकिरण एरोबैटिक टीम द्वारा यह रोमांचक प्रदर्शन किया गया है। इसका उद्देश्य न सिर्फ अपनी क्षमताओं के प्रदर्शन के अलावा सम्मानित रक्षा सेवाओं में शामिल होने के लिए युवाओं को प्रेरित करना भी था।

रक्षा जनसंपर्क अधिकारी शान्तनु प्रताप सिंह ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हूए आज यहां बताया कि सूर्यकिरण टीम बड़ी संरचनाओं में, जमीन के करीब एरोबेटिक युद्ध अभ्यास करने की अत्यंत चुनौतीपूर्ण भूमिका निभाती आई है। उन्होंने बताया कि 1996 में गठित सूर्यकिरण में 17 अधिकारी, 200 तकनीशियन शामिल हैं। श्री सिंह ने बताया कि टीम जो एक वैश्विक परिघटना में विकसित हुई है, उसे दुनिया में 9 एयरक्राफ्ट फॉर्मेशन एरोबैटिक टीम में से एक होने का गौरव प्राप्त है।

उन्होंने कहा कि टीम का आदर्श वाक्य 'ऑलवेज द बेस्ट' है और यह स्वर्णिम विजय वर्ष या 1971 के युद्ध भारत की विजय के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में पूरे भारत में फ्लाई पास्ट किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एयरफोर्स हिंडन से शुरु होकर विमानों के इस काफिले ने सहारनपुर, देहरादून, नंदप्रयाग, हरिद्वार और मेरठ के आकाश पर अपनी कलाबाजी का जौहर दिखाकर लोगों को जता दिया कि सूर्यकिरण भारतीय वायु सेना के आदर्श वाक्य ‘टच द स्काई विद ग्लोरी’ का पालन कर रहा है। 

(वार्ता)