दैनिक भास्कर हिंदी: J&K : सेना की अपील, बच्चों को आतंक की राह छोड़ने के लिए कहें माता-पिता

February 20th, 2019

हाईलाइट

  • हमले के बाद पहली बार सामने आया सेना का बयान
  • कश्मीरी माता पिता अपने बच्चों को समझाएं-सेना
  • सेना ने आतंकियों को दी सख्त चेतावनी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पहली बार भारतीय सेना और CRPF ने एक साथ प्रेस कांफ्रेंस की। सीआरपीएफ के आईजी लेफ्टिनेंट जनरल कंवलजीत सिंह ढिल्लों ने प्रेस कांफ्रेंस में कश्मीरी लोगों से अपील की। उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन में शामिल हो चुके कश्मीरी युवाओं के माता-पिता उन्हें सरेंडर करने के लिए कहें। यदि वो सरेंडर नहीं करेंगे तो हम उन्हें मार देंगे।

सीआरपीएफ के आईजी ने हमले में शहीद जवानों के साहस को सलाम करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। ढिल्लों ने कहा कि आतंकी हमले के 100 घंटे के अंदर ही सुरक्षाबलों ने जैश के तीनों कमांडर को ढेर कर दिया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की माताएं बेटों से आतंक का साथ छोड़कर मुख्यधारा में लौटने को कहें। ऐसा न करने पर उन्हें ढेर कर दिया जाएगा। आईजी ने कहा कि सरेंडर करने वाले कश्मीरियों के लिए कई अच्छे कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, लेकिन आतंकियों पर रहम नहीं किया जाएगा।

सीआरपीएफ आईजी ने कहा कि शहीद जवानों के परिवार खुद को अकेला न समझें। सुरक्षाबल हमेशा उनके साथ खड़े हैं। देश में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों को भी नुकसान नहीं पहुंचने दिया जाएगा, हम उनकी मदद के लिए हेल्पलाइन चला रहे हैं।

 

 

खबरें और भी हैं...