दैनिक भास्कर हिंदी: 5 राज्यों में राज्यपालों की नियुक्ति, केरल के गवर्नर बने आरिफ मोहम्मद खान

September 2nd, 2019

हाईलाइट

  • हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र को राजस्थान ट्रांसफर किया गया
  • भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र, बंडारू दत्तात्रेय को हिमाचल का राज्यपाल नियुक्त किया गया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केरल और हिमाचल प्रदेश समेत पांच राज्यों में राज्यपालों की नियुक्ति की गई है। कलराज मिश्र राजस्थान के गवर्नर बनाए गए हैं। पूर्व पीएम राजीव गांधी की सरकार में मंत्री रहे दिग्गज नेता आरिफ मोहम्मद खान को केरल का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र, बंडारू दत्तात्रेय को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आरिफ मोहम्मद खान समेत 5 राज्यपालों के नियुक्तियों और तबादलों पर मुहर लगा दी है। राष्ट्रपति भवन से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, वर्तमान में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र का तबादला कर उन्हें राजस्थान भेज दिया गया है। कलराज मिश्र अब राजस्थान के राज्यपाल होंगे।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। बीजेपी नेता बंडारू दत्तात्रेय हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बन गए हैं। तमिलनाडु की बीजेपी नेता डॉ. तमिलिसाई सुंदरराजन को तेलंगाना का राज्यपाल बनाया गया है।

केरल का राज्यपाल नियुक्त होने पर आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, यह सेवा का अवसर है। भारत जैसे देश में पैदा होना मेरा सौभाग्य है। यह मेरे लिए भारत के इस हिस्से को जानने का शानदार अवसर है, जो भारत की सीमा बनाता है और इसे भगवान का अपना देश कहा जाता है।

बता दें कि आरिफ मोहम्मद खान ने तीन तलाक को गैरकानूनी घोषित करने के मोदी सरकार के फैसले का समर्थन किया था। वे जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म करने के केंद्र सरकार के फैसले के भी समर्थन में थे। 1986 में शाहबानो केस में सुप्रीम कोर्ट को संसद द्वारा कानून बनाकर पलटे जाने के विरोध में खान ने केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। वहीं जिस वंदे मातरम को लेकर मुस्लिम समुदाय आपत्ति जताते हैं, उसका भी उन्होंने उर्दू में अनुवाद किया था।

हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किए जाने पर बंडारू दत्तात्रेय ने कहा, मैं पीएम मोदी के साथ-साथ गृह मंत्री अमित शाह का भी आभारी हूं। उन्होंने मुझे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के रूप में यह जिम्मेदारी दी और मैं संविधान के अनुसार काम करूंगा।