दैनिक भास्कर हिंदी: 1 मार्च से फिर धरने पर केजरीवाल, गौतम गंभीर ने कहा शर्मनाक

February 23rd, 2019

हाईलाइट

  • अरविंद केजरीवाल 1 मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे।
  • केजरीवाल ने कहा कि पूरे दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए आंदोलन करना चाहिए।
  • केजरीवाल के इस बयान पर क्रिकेटर गौतम गंभीर ने निशाना साधा है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 1 मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे। उन्होंने शनिवार को दिल्ली विधानसभा में इसका ऐलान करते हुए कहा कि अब समय आ गया है जब पूरे दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए आंदोलन करना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि 'दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलवाने के लिए मुझे जो करना पड़ेगा मैं करूंगा।' केजरीवाल के इस बयान पर क्रिकेटर गौतम गंभीर ने निशाना साधा है। 

 

 

केजरीवाल ने कहा, 'यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक दिल्ली को दर्जा नहीं मिलेगा। केंद्र सरकार पूरे देश में लोकतंत्र होने की बात कहती है, लेकिन मैं कहना चाहुंगा कि दिल्ली में ही लोकतंत्र नहीं है, जबकि वह देश की राजधानी है। जनता वोट देती है और सरकार चुनती है, लेकिन उस सरकार के पास कोई पावर नहीं है। इसलिए AAP पार्टी 1 मार्च से आंदोलन करने जा रही है। इस दौरान मैं अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठूंगा।'

वहीं भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने केजरीवाल के धरने को शर्मनाक बताया है। गौतम गंभीर ने ट्वीट करते हुए लिखा, दिल्ली में 2 करोड़ से भी अधिक जनता है..हजार से भी ज्यादा समस्याएं हैं...और इसका हल क्या निकला है...सीएम केजरीवाल का एक और स्पेशल धरना...शर्मनाक! क्रिकेट से संन्यास ले चुके गंभीर इन दिनों समाजसेवा के कामों के अलावा राजनीति में भी खूब दिलचस्पी ले रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि वह आने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर चुनाव भी लड़ सकते हैं। 

बता दें कि केजरीवाल पिछले लंबे समय से दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाए जाने की मांग कर रहे है। इससे पहले पिछले साल जुलाई में भी केजरीवाल ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के इंदिरा गांधी स्टेडियम में आंदोलन किया था। दिल्ली की जनता तक इस मुद्दे को गंभीरता से पहुंचाने के लिए केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों को एक खुला पत्र लिखकर राष्ट्रीय राजधानी को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की अपनी मांग का जिक्र किया था और दिल्लीवासियों से अपने बच्चों के भविष्य की खातिर लड़ने की अपील की थी। 

खबरें और भी हैं...