comScore

असम बाढ़: 21 जिलों के 15 लाख लोग प्रभावित, अब तक 33 की मौत, पीएम मोदी ने किया मुआवजे का ऐलान

असम बाढ़: 21 जिलों के 15 लाख लोग प्रभावित, अब तक 33 की मौत, पीएम मोदी ने किया मुआवजे का ऐलान

हाईलाइट

  • असम में बाढ़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त
  • अब तक 33 की मौत, 15 लाख लोग प्रभावित
  • मृतकों के परिजनों के लिए पीएम ने किया मुआवजे का ऐलान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। असम में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है। यहां बाढ़ से अबतक 33 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा राज्य के 33 में से 21 जिलों के लगभग 15 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। इसी बीच मोदी सरकार ने मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। इसके अलावा पीएम मोदी ने असम सरकार को बाढ़ के हालातों से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बाढ़ में जान गंवा चुके लोगों के परिजनों के लिए दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। पीएमओ ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, पीएम मोदी ने मृतकों के परिवारवालों को प्रधानमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपये स्वीकृत किए हैं।

मोदी ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से भी फोन बात की और राज्य के मौजूदा हालात की समीक्षा की। उन्होंने सोनोवाल को केंद्र की तरफ से सभी तरह की मदद का भरोसा भी दिया है।

गौरतलब है कि, बाढ़ के कारण ब्रह्मपुत्र नदी कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। सहायक नदियां भी उफान पर हैं। राज्य सरकार की तरफ से 12 से ज्यादा जिलों में 265 से अधिक राहत शिविर बनाए गए हैं। इनमें करीब 30 हजार लोगों को रखा गया है।

ये जिले बाढ़ की चपेट में
असम के डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, धेमाजी, लखीमपुर, पश्चिमी कर्बी आंगलोंग, बिश्वनाथ, चिरांग, दर्रांग, नलबाड़ी, बारपेटा, बोंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सालमारा, गोवालपारा, कामरूप, कामरूप (मेट्रो), जोरहट, मोरीगांव, नगांव, गोलाघाट और शिवसागर जिले बाढ़ की चपेट में हैं।

तस्वीरों में देखिए असम के हालात

 

कमेंट करें
deS3Q