दीपोत्सव कार्यक्रम 2021: 12 लाख दीये से जगमग होगी अयोध्या, बनेगा नया रिकार्ड

November 1st, 2021

हाईलाइट

  • योगी सरकार अयोध्या में 12 लाख दिए जलाएगी
  • दीपोत्सव गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में होगा दर्ज
  • साल 2017 से शुरू हुई थी दीपोत्सव कार्यक्रम

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। भगवान श्री रामनगरी अयोध्या में आगामी तीन नवंबर को होने वाले दीपोत्सव कार्यक्रम को भव्य व अविस्मरणीय बनाने के लिए योगी सरकार की तरफ से पूरी तैयारी कर ली गई है। आपको बता दें कि इस बार योगी सरकार दीपोत्सव के दौरान श्री अयोध्या धाम में 12 लाख दीये जलाकर कर नया रिकार्ड बनाएगी। इस भव्य आयोजन को देखने के लिए गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की एक टीम अयोध्या में उपस्थिति रहेगी। बता दें कि विश्व रिकार्ड बनाने के लिए मिट्टी के दीये को कम से कम पांच मिनट तक जलाना होगा।

सोमवार से शुरू हो गई दीपोत्सव कार्यक्रम

दरअसल, सोमवार से 5 दिवसीय दीपोत्सव 2021 के आयोजन की शुरूआत की हो गई है। पहले दो दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। दीपावली की पूर्व संध्या पर तीन नवंबर को मुख्य आयोजन है, जिसमे प्रदेश के हर गांव से आने वाले पांच मिट्टी के दीये अयोध्या को रोशन करेंगे। इसके लिए उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों के जिलाधिकारियों को यह निर्देशित किया गया है कि राज्य के 90 हजार से अधिक गांवों में से प्रत्येक से पांच मिट्टी के दीपक समय पर अयोध्या भेजवाने के लिए सुनिश्चित करें।

पहली बार दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन 2017 में हुआ था 

गौरतलब है कि योगी सरकार सत्ता में आने के बाद अयोध्या में भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस आयोजन में पहली बार 51 हजार मिट्टी के दीयों को जलाया गया था। साल 2019 में  4,04,226 मिट्टी के दीयों तथा साल 2020 में 6,06,569 मिट्टी के दीयों को सरयू के तट पर जलाया गया था। इस बार सीएम योगी आदित्यनाथ पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि अयोध्या में दीपोत्सव में 12 लाख मिट्टी के दीये जलाए जाएंगे। सरयू के तट पर रामायण की गाथा को भी अमर बनाया जाएगा। दिलचस्प बात यह है कि इस भव्य आयोजन में भव्य रामायण का हेरिटेज तरीके से शो दिखाया जाएगा। 

यूपी विधानसभा चुनाव के लिहाज से है खास

आपको बता दें कि बस कुछ ही महीनों बाद यूपी विधानसभा चुनाव आने वाला है। उत्तर प्रदेश में बीजेपी का एजेंडा हमेशा अयोध्या रहा है। सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद राममंदिर निर्माण का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। बीजेपी राममंदिर निर्माण हो या फिर अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम इन सभी को लेकर हिंदू वोटरो को साधने की पूरी कोशिश करेगी।