दैनिक भास्कर हिंदी: EC ने योगी, नकवी, कल्याण सिंह पर कार्रवाई नहीं की, मेरी जीभ तक काट दी: आजम खान

April 6th, 2019

हाईलाइट

  • आजम खान ने योगी के 'मोदी की सेना' वाले बयान को लेकर की टिप्पणी।
  • EC पर बीजेपी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई न करने का आरोप।
  • EC ने योगी, नकवी पर कुछ नहीं किया, मेरी जीभ तक काट दी: आजम खान।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार आजम खान ने चुनाव आयोग पर बीजेपी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है। अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले आजम खान ने इस बार यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के 'मोदी की सेना' वाले बयान को लेकर चुनाव आयोग पर टिप्पणी की है। आजम खान ने आरोप लगाया है कि, चुनाव आयोग ने सीएम योगी, मुख्तार अब्बास नकवी और राजस्थान के राज्यपाल के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की, लेकिन मेरे बोलने पर मेरी जीभ तक काट दी थी।

आजम खान ने कहा, योगी आदित्यनाथ ने कहा 'मोदी की फौज', मुख्तार अब्बास नकवी भी यही बोले, चुनाव आयोग ने कुछ नहीं किया। कल्याण सिंह के खिलाफ भी चुनाव आयोग ने कोई कार्रवाई नहीं की, लेकिन जब मैंने कहा था कि हम बॉर्डर की अपने खून की आखिरी बूंद तक रक्षा करेंगे, तो चुनाव आयोग ने मेरी जीभ काट दी। ये कैसा न्याय है? बता दें कि इससे पहले आजम खान ने कहा था, हमारे देश की सीमा की रक्षा के लिए हम अपने खून की एक-एक बूंद बहा देंगे। उनके इसी बयान पर चुनाव आयोग ने नाराजगी जताई थी।

योगी ने कहा था- 'मोदी जी की सेना'
गौरतलब है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि, कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे और 'मोदी जी की सेना' उन्हें सिर्फ गोली और गोला देती है। सीएम योगी के बयान के बाद केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी ऐसा ही बयान दिया था। उन्होंने उत्तर प्रदेश के रामपुर में कहा था कि 'मोदी की सेना' तो आतंकियों को घर में घुसकर मार रही है। हालांकि दोनों ही नेताओं को चुनाव आयोग की तरफ से नोटिस मिल चुका है।

कल्याण सिंह भी बयान देकर फंसे
वहीं राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह भी पीएम मोदी के पक्ष में बयान देकर मुश्किल में हैं। कल्याण सिंह ने अलीगढ़ में बीजेपी कार्यकर्ताओं से बातचीत में सार्वजनिक तौर पर बीजेपी को वोट देकर जिताने और नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने की अपील की थी। बयान की शिकायत मिलने पर चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मामले में संज्ञान लेने को कहा था। 

रामपुर विधानसभा से नौवीं बार विधायक बने आजम खान इस बार रामपुर सीट से एसपी-बीएसपी के गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। उनके सामने एसपी की पूर्व सांसद जया प्रदा हैं, जो इस बार बीजेपी में शामिल होकर आजम खान के खिलाफ मैदान में हैं। 

खबरें और भी हैं...