comScore

बिहार : प्रवासी मजदूरों को लेकर भाजपा, कांग्रेस आमने-सामने

May 19th, 2020 21:30 IST
 बिहार : प्रवासी मजदूरों को लेकर भाजपा, कांग्रेस आमने-सामने

हाईलाइट

  • बिहार : प्रवासी मजदूरों को लेकर भाजपा, कांग्रेस आमने-सामने

पटना, 19 मई (आईएएनएस)। प्रवासी मजदूरों को लेकर बिहार में राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। भाजपा ने जहां प्रवासी मजदूरों के मसले पर घेरते हुए कहा कि कांग्रेस भद्दा मजाक कर रही है, वहीं कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में बसों के मामले पर भाजपा को आड़े हाथ लिया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, लंबे समय तक गरीबी हटाओ का भुलावा देकर कांग्रेस ने जिस तरह से गरीबों व मजदूरों का शोषण किया है वह किसी से छिपा नहीं है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी संकट के समय में भी प्रवासी मजदूरों का दुख बांटने का सड़क पर ड्रामा कर रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कुछ दिन पहले ऐलान किया था कि कांग्रेस अपने खर्चे पर प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजेगी, लेकिन उनका यह ऐलान उनके पसंदीदा नारे गरीबी हटाओ की ही तरह महज एक राजनीतिक स्टंट बनकर रहा गया है।

प्रदेश अध्यक्ष ने एक बयान जारी कर कहा, कांग्रेस शासित राज्यों से प्रवासी मजदूरों को ट्रकों में भेड़-बकरियों की तरह भेजा रहा है। यहां से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर पलायन कर रहे हैं, लेकिन उनके लिए राज्य सरकार द्वारा ट्रेनों की कोई समुचित व्यवस्था नहीं की जा रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि उत्तर प्रदेश सरकार को 1000 बसें देने की पेशकश करने वाली कांग्रेस आखिर अपने शासित राज्यों में ट्रेनें क्यों नहीं चलवा रही हैं?

डॉ. जायसवाल ने राजद पर भी निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के प्रमुख सहयोगी राजद लॉकडाउन की आपदा में जनसेवा से पूरी तरह नदारद रहे और अब इनके नेता बाहर से आ रहे प्रवासी मजदूरों पर डोरे डालने में जुट चुके हैं। उन्होंने कहा, इन दोनों दलों की राजनीति से एक बात तय है कि चाहे जनता इनकी कितनी भी फजीहत करे, यह दोनों दल सुधरने वाले नहीं हैं।

इधर, कांग्रेस ने भी भाजपा पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने प्रवासी मजदूरों के नाम पर भाजपा पर राजनीति करने का आरोप लगाया है। बिहार युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रवासी मजदूरों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

उन्होंने कहा कि ये समय बहुत ही कठिन है, सरकार को ऐसे समय में राजनीति न करके मजदूरों को उनके घर भेजवाने की व्यवस्था करनी चाहिए, अगर कांग्रेस पार्टी इसमें सहयोग कर रही है तो सरकार को सहयोग लेने में क्या दिक्कत है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रवासी मजदूर किसी राज्य के नहीं पूरे देश के हैं। आखिर इनके नाम पर राजनीति क्यों? कुमार ने कहा कि इस दौर में कोरोना की जंग मिलकर ही जीती जा सकती है।

कमेंट करें
9KCbt