दैनिक भास्कर हिंदी: बिहार: भारत-नेपाल बॉर्डर पर मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, मुंगेर जिले में नक्सलियों ने दो लोगों की हत्या की

July 10th, 2020

हाईलाइट

  • ऑपरेशन में नक्सलियों के पास से मिले अत्याधुनिक हथियार
  • मुंगेर में नक्सलियों ने दो लोगों की गला रेतकर हत्या की

डिजिटल डेस्क, पटना। भारत-नेपाल सीमा के पास बिहार के पश्चिम चंपारण जिले में सुरक्षाबलों ने आज (शुक्रवार, 10 जुलाई) सुबह करीब 4.45 बजे हुई मुठभेड़ में चार नक्सलियों को मार गिराया है। वहीं नक्सलियों की ओर से की गई फायरिंग में एक सुरक्षाकर्मी भी घायल हुआ है। उसे पास ही अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। वहीं ऑपरेशन में अत्याधुनिक हथियारों की बरामदगी हुई है। वहीं मुंगेर में नक्सलियों ने दो लोगों की गला रेतकर हत्या कर दी।

सशस्त्र सीमा बल के आईजी संजय कुमार ने बताया कि हमें वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के आसपास के जंगलों में छिपे माओवादियों के एक समूह के बारे में सूचना मिली थी। उन्हें पकड़ने के लिए हमने एक ऑपरेशन की योजना बनाई थी। कुमार ने कहा कि नक्सलियों के समूह का नेतृत्व राम बाबू साहनी उर्फ राजन कर रहा था, जो घटनास्थल से फरार हो गया, हालांकि उसके डिप्टी 'बिपुल' के अलावा तीन अन्य लोगों को मुठभेड़ में मार गिराया है। कुमार ने बताया कि साहनी को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान जारी है।

ऑपरेशन में नक्सलियों के पास से मिले अत्याधुनिक हथियार
आईजी संजय कुमार ने बताया कि नक्सलियों पास से एक एके-56 राइफल, तीन एसएलआर और एक 303 राइफल बरामद हुई है। उन्होंने बताया कि नक्सलियों की ओर से हुई गोलीबारी में एसएसबी जवान ऋतुराज घायल हो गए, हालांकि वह खतरे से बाहर है।

मुंगेर में नक्सलियों ने दो लोगों की गला रेतकर हत्या की
बिहार के मुंगेर जिले के एक गांव में नक्सलियों ने 2 लोगों की गला रेत कर हत्या कर दी। डीआईजी, मुंगेर रेंज, मनु महाराज ने बताया कि मृतकों की पहचान 39 वर्षीय बृजलाल टुडू और एक सुधारवादी नक्सली अरुण रे (36) के रूप में हुई है।

मुंगेर के हवेली खड़गपुर में नक्सलियों ने दो लोगों की गला रेत कर की हत्या

नक्सलियों ने पर्चा भी छोड़ा है। लाल स्याही से लिखे पर्चे में में लिखा है पुलिस मुखबिर पर हमला है। पूंजीपतियों पर अभी हमला करना बाकी है। एसपीओ से अपील है नौकरी से इस्तीफा देकर क्रांतिकारी जनता की शरण में चले आएं। पत्र के नीचे लिखा है भाकपा, माओवादी। शुक्रवार की सुबह परिजन और ग्रामीण दोनों की खोज में निकले तो बधेल पहाड़ी पर दोनों का शव मिला। इंस्पेक्टर नईमउद्दीन पुलिस बल के साथ घटनास्थल पहुंचकर शव को कब्जे में लिया। नक्सली वारदात से लोग दहशत में हैं।