दैनिक भास्कर हिंदी: Border dispute: चीन ने LAC के पास तैनात किए 1000 सैनिक, भारत ने भी बढ़ाई सैनिकों की संख्या

May 26th, 2020

हाईलाइट

  • चीनी सैनिकों ने पैंगोंग झील के किनारे गश्त बढ़ाई
  • LAC पर तनावपूर्ण लंबी खींचतान के लिए भारत तैयार

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच विवाद बढ़ता ही जा रहा है। दोनों देशों की सेनाओं के अधिकारियों के बीच बातचीत से गतिरोध का कोई हल नहीं निकल पाया है। ऐसे में दोनों देशों के सैनिक लद्दाख में कई जगह पर बहुत ही कम दूरी पर आमने-सामने हैं। सूत्रों के मुताबिक दोनों पक्षों की ओर से एक-एक हजार से अधिक सैनिक बहुत कम फासले पर मौजूद हैं।

यूरोपियन स्पेस एजेंसी की ओर से ली गई सैटेलाइट तस्वीरें लद्दाख में पैंगोंग झील के पास ITBP कैम्प के सामने चीनी सैनिकों के बिल्ड-अप की पुष्टि करती है। पिछले एक महीने की तस्वीरों से तुलना की जाए तो इस अवधि में LAC के दूसरी ओर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के मूवमेंट का पता चलता है। 24 मई की तस्वीरों का विश्लेषण ITBP शिविर से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर छोटी नावों के इस्तेमाल के जरिए चीनी सैनिकों के संभावित मूवमेंट को दिखाता है।

तस्वीरों का ऐतिहासिक विश्लेषण बताता है कि सीमा के इस तरफ भारतीय हिस्से में ITBP का कई साल से स्थायी कैम्प है। ये तस्वीरें LAC से लगभग 2.5 किलोमीटर की दूरी पर चीनी सैनिको की उपस्थिति का संकेत देती हैं। ये उपस्थिति मई 2020 के पहले हफ्ते में ली गई तस्वीरों में नहीं दिख रही थी।

भारत ने लद्दाख में LAC पर बढ़ाई सैनिकों की तादाद
लद्दाख में चीन की ओर से भारतीय सीमा में भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती के बाद भारत ने भी करारा जवाब दिया है। भारतीय सेना ने लद्दाख में चीन सीमा पर अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। चीनी सैनिकों की घुसपैठ रोकने के लिए भारत ने लद्दाख के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी गश्त और निगरानी कड़ी कर दी है। चीन की ओर से दौलत बेग ओल्डी (DBO) और 114 ब्रिगेड के तहत निकटवर्ती इलाकों में 5000 सैनिकों की तैनाती की गई है। चीनी सैनिकों को किसी भी तरह से आगे बढ़ने से रो​कने के लिए भारतीय सेना ने वायु सेना की मदद से सैनिकों को अग्रिम इलाकों में तैनात किया है।

खबरें और भी हैं...