comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

दिल्ली : CWC की बैठक में बोलीं सोनिया- लोगों को धर्म के आधार पर बांटना CAA का उद्देश्य 

दिल्ली : CWC की बैठक में बोलीं सोनिया- लोगों को धर्म के आधार पर बांटना CAA का उद्देश्य 

हाईलाइट

  • CAA को भेदभावपूर्ण और विभाजनकारी कानून बताया
  • बैठक में CAA और देश के आर्थिक मसलों पर चर्चा का गई
  • CWC की बैठक में पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी नहीं हुए शामिल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस की अं​तरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को भेदभावपूर्ण और विभाजनकारी बताया। उन्होंने कहा कि इस कानून का उद्देश्य भारतीयों को धार्मिक आधार पर बांटना है। सोनिया ने कहा कि कांग्रेस के करोड़ों कार्यकर्ता समानता, न्याय और सम्मान के लिए संघर्ष में लोगों के कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे।

सोनिया ने कहा कि देश के हजारों युवा विशेषकर छात्र CAA के कारण होने वाले नुकसान समझ गए हैं। वे इस सड़कों पर उतरकर सर्द मौसम के साथ ही पुलिस और नौकरशाहों का सामना कर रहे हैं। प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसक घटनाओं की जांच के लिए आयोग गठित किया जाए। सरकार विरोध को दबाने की पूरी कोशिश कर रही है। कोई ऐसा दिन नहीं बीतता जब गृह मंत्री और प्रधानमंत्री उकसाने वाला बयान नहीं देते।

सोनिया ने CAA के खिलाफ प्रदर्शनों और अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जेएनयू और अन्य जगहों पर युवाओं एवं छात्रों पर हमले की घटनाओं की जांच के लिए उच्च स्तरीय आयोग का गठन किया जाना चाहिए।

बैठक में शामिल नहीं हुए राहुल गांधी
दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित CWC की इस बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए। वहीं पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी बैठक में शामिल नहीं हुए। बैठक में राहुल गांधी के मौजूद नहीं रहने के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि, 'कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष फिलहाल यात्रा पर हैं। वे रविवार सुबह से पार्टी के काम के लिए मौजूद होंगे।'

बैठक में 4 प्रस्ताव भी पास किए गए
CWC की बैठक में 4 प्रस्ताव भी पास किए गए। इन प्रस्तावों में कहा गया कि सरकार और पीएम मोदी ने युवाओं के विश्वास को तोड़ा है। उन्होंने छात्रों और युवाओं की आवाज को दबाने के लिए क्रूरता का इस्तेमाल किया। इसमें यह भी कहा गया कि स्वतंत्र और रचनात्मक सोच वाले संस्थाओं पर हमले के लिए साजिश रची गई। कांग्रेस कार्य समिति ने जम्मू-कश्मीर में पाबंदियां हटाने और नागरिक स्वतंत्रताएं बहाल करने की अपील की।

बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा की गई
CWC की बैठक के बाद कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि, 'बैठक में विश्वविद्यालयों में चल रहे आंदोलनों, आर्थिक मंदी, कृषि संकट, बेरोजगारी, जम्मू-कश्मीर की स्थिति और पश्चिम एशिया के हालात पर चर्चा की।'

कमेंट करें
7fEVl
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।