दैनिक भास्कर हिंदी: MP : चुनावी शोरगुल थमा, अब 28 को मतदाता दिखाएंगे अपनी ताकत

November 26th, 2018

हाईलाइट

  • मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार सोमवार शाम से थम जाएगा।
  • प्रचार खत्म होने से पहले कांग्रेस और बीजेपी के तमाम नेता धुआंधार जनसभाएं कर रहे हैं।
  • राज्य में 230 विधानसभा सीटों पर 28 नवंबर (बुधवार) को वोट डाले जाएंगे।

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार सोमवार शाम 5 बजे थम गया। प्रचार खत्म होने से पहले मुख्य दल कांग्रेस और बीजेपी के तमाम नेताओं ने धुआंधार जनसभाएं की। राज्य में 230 विधानसभा सीटों पर 28 नवंबर (बुधवार) को वोट डाले जाएंगे। यहां कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं। विधानसभा चुनाव प्रचार में बीजेपी की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमित शाह, राजनाथ सिंह और शिवराज सिंह चौहान समेत तमाम नेताओं ने इस आखिरी दौर में मतदाताओं को रिझाने की भरपूर कोशिश की तो वहीं कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी, नवजोत सिंह सिद्धू और दिग्विजय सिंह समेत अन्य नेताओं ने चुनाव प्रचार की कमान संभाले रखी।

इन मुद्दों पर बीजेपी लड़ रही चुनाव
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीते 15 साल से सत्ता में मौजूद बीजेपी के पास ताज बचाए रखने की चुनौती है। इसके मद्देनजर बीजेपी ने इस बार अपने घोषणापत्र को 'दृष्टिपत्र' नाम दिया है। किसानों और महिलाओं को केंद्र में रखकर इस 'दृष्टिपत्र' में मेधावी छात्राओं को फ्री स्कूटी और छोटे किसानों को लाभ की बात कही गई है। यह पहला मौका है जब बीजेपी किसी एक चुनाव के लिए दो घोषणा-पत्र लेकर आयी है। महिला अपराध को लेकर चौतरफा आरोपों से घिरी पार्टी ने अलग घोषणा पत्र लाकर जता दिया है कि महिला सुरक्षा और प्रगति उसकी प्राथमिकता में है।

इन मुद्दों पर कांग्रेस लड़ रही चुनाव
15 सालों से सत्ता का वनवास काट रही कांग्रेस सत्ता हासिल करने के लिए जी तोड़ प्रयास कर रही है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र को वचन पत्र नाम दिया है। वचन पत्र में सबसे ख़ास है, 81 लाख किसानों का 75 हजार 800 करोड़ कर्ज़ माफ़ करने का वादा। साथ ही किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज आपराधिक प्रकरण भी वापस लिए जाएंगे। किसानों को डीजल-पेट्रोल ख़रीद में छूट मिलेगी। पार्टी ने अपने वचन पत्र में महिला सुरक्षा और महिलाओं की प्रगति पर विशेष ध्यान दिया है। 112 पेज के इस वचन पत्र में 973 घोषणाएं हैं। कांग्रेस के घोषणा पत्र में प्रदेश को खुशहाल और समृद्ध बनाने का वादा जनता से किया गया है।

बीजेपी 230, कांग्रेस 229 सीटों पर लड़ रही चुनाव
मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर जहां बीजेपी चुनाव लड़ रही है तो वहीं कांग्रेस ने 229 सीटों पर अपने प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। जतारा विधानसभा सीट कांग्रेस ने अपने सहयोगी लोकतांत्रिक जनता दल के लिए छोड़ी है। बुधनी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ कांग्रेस ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को खड़ा किया है। वहीं कांग्रेस में शामिल हुए भाजपा के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री सरताज सिंह होशंगाबाद सीट से चुनाव लड़ेंगे। वह बीजेपी प्रत्याशी सीताशरण शर्मा को टक्कर देंगे। इसके अलावा भी कई अन्य सीटों पर कांटे की टक्कर होने की उम्मीद है।

11 दिसंबर को आएगा रिजल्ट
बहरहाल 28 नवंबर को होने वाले चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग की तैयारियां भी लगभग पूरी हो चुकी हैं। EVM और मतदान से संबंधित अन्य जरूरी चीजों के साथ ही फोर्स, वाहन आदि की व्यवस्था पूरी कर ली गई हैं। मध्य प्रदेश में कुल पांच करोड़ तीन लाख 94 हजार 86 मतदाता है जो सरकार चुनने के लिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। 28 नवंबर को मतदान के बाद ईवीएम मशीनें स्ट्रांग रूम में कैद हो जाएंगी और 11 दिसंबर को प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा।