दैनिक भास्कर हिंदी: देश में सिर्फ 5.6 % लोगों को ही लगी वैक्सीन की दोनों डोज, केन्द्र ने SC से कहा-साल के अंत तक पूरी आबादी को लगा दिया जाएगा टीका

June 27th, 2021

हाईलाइट

  • दिसंबर तक तैयार हो जाएंगे वैक्सीन के 188 करोड़ डोज
  • इस साल के अंत तक भारत की पूरी आबादी को लगेगा टीका
  • देश में सिर्फ 5.6 % लोगों को ही लगी वैक्सीन की दोनों डोज

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने कोरोनावायरस की वैक्सीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि इस साल के अंत यानी दिसंबर तक देश की पूरी आबादी को कोरोना टीका लगा दिया जाएगा। केन्द्र सरकार ने बताया है कि पांच वैक्सीन निर्माता लगभग 188 करोड़ वैक्सीन की खुराक उपलब्ध कराएंगी। केंद्र सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट को जानकारी दी गई है कि भारत की लगभग 5.6 प्रतिशत वयस्क आबादी को ही अभी कोरोना की दोनों डोज दी गई है।

केंद्र सरकार ने स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय के अतिरिक्‍त सचिव मनोहर अगनानी की ओर से दायर एक हलफनामें में कहा, देश में इस समय 18 साल से अधिक उम्र की जनसंख्‍या करीब 93-94 करोड़ है। इन सभी लोगों को कोरोना वैक्‍सीन की दोनों डोज देने के लिए 186 से 188 करोड़ वैक्सीन खुराक की जरूरत होगी।

बताया गया है कि कोरोना वैक्‍सीन की इन जरूरतों में से 51.6 करोड़ खुराक प्रशासन के लिए उपलब्ध होंगी जबकि 31 जुलाई को पात्र आबादी के पूर्ण टीकाकरण के लिए लगभग 135 करोड़ वैक्सीन खुराक की आवश्यकता है। केंद्र के अनुसार, अगस्त 2021 से दिसंबर 2021 तक कोविड वैक्सीन खुराक की अनुमानित उपलब्धता इस प्रकार है। कोविशील्ड 50 करोड़, कोवैक्सीन 40 करोड़, बायो ई सब यूनिट वैक्सीन 30 करोड़, जायडस कैडिला डीएनए वैक्सीन 5 करोड़, स्पुतनिक वी 10 करोड़। 

केंद्र ने एक ताजा हलफनामे में शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय को सूचित किया कि 25 जून तक देशभर में लोगों को वैक्सीन की 31 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है। हलफनामे के अनुसार, ब्रेक-अप में स्वास्थ्य कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को दी गईं 1,73,35,543 खुराक शामिल हैं। फ्रंटलाइन वर्कर्स को 2,66,36,432 खुराक, 45 से 59 वर्ष की आयु के व्यक्तियों को 9,93,05,811 खुराक, 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को 8,96,03,216 खुराक और 18 से 44 वर्ष की आयु के व्यक्तियों को 7,84,37,353 खुराक।

380 पेज के अतिरिक्त हलफनामे में केंद्र ने कहा कि 45 साल से ऊपर के लोगों की प्राथमिकता वाली आबादी के 44.2 फीसदी और 18-44 साल के 13 फीसदी आबादी को वैक्सीन की पहली खुराक मिल चुकी है। इसके अलावा, कुल 27.3 प्रतिशत योग्य आबादी (18 वर्ष और उससे अधिक) को कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मिली है। 

केंद्र ने शीर्ष अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया कि 1 मई को नई उदार मूल्य निर्धारण और त्वरित राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण रणनीति शुरू करने से पहले, 16 जनवरी से देश में कुल 15,49,89,635 (15.49 करोड़) कोविड वैक्सीन खुराक प्रशासित की गई थी। केंद्र की ओर से जवाब शीर्ष अदालत द्वारा कोविड प्रबंधन पर सुनवाई के दौरान एक स्वत: संज्ञान मामले में आया, जहां जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़, एल. नागेश्वर राव और रवींद्र भट ने सरकार की टीकाकरण नीति की आलोचना करते हुए इसे मनमाना बताया था। शीर्ष अदालत ने केंद्र से उसके समक्ष अपनी वैक्सीन नीति का विवरण प्रस्तुत करने को कहा था।

खबरें और भी हैं...