comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Lockdown 4.0: पूरे देश में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, मेट्रो और विमान सेवाएं बंद रहेंगे, स्टेडियम बिना दर्शकों के खुलेंगे


हाईलाइट

  • कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन का तीसरा चरण आज खत्म होगा
  • लॉकडाउन का चौथा चरण सोमवार से शुरू होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए किए पूरे देश में 31 मई तक लॉकडाउन 4.0 का ऐलान कर दिया गया है। लॉकडाउन का तीसरा चरण आज खत्म होने जा रहा है और चौथा चरण सोमवार से शुरू होगा। इसके लिए केन्द्र सरकार ने आज गाइडलाइंस भी जारी कर दी। लॉकडाउन में मेट्रो और विमान सेवाएं बंद रहेंगे, स्कूल-कॉलेज, होटल भी नहीं खुलेंगे। स्टेडियमों को बिना दर्शकों के खोलने की इजाजत दी गई है। इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने घोषणा की थी कि लॉकडाउन 4 में नए नियम होंगे और यह पिछले लॉकडाउन से  पूरी तरह से अलग होगा। बता दें कि पीएम मोदी ने 24 मार्च को पहली बार 21 दिन के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। इसके बाद इसे तीन मई तक और फिर 17 मई तक बढ़ा दिया गया था।

क्या खुलेगा
-ऑनलाइन लर्निंग चलती रहेगी
-स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स और स्टेडियम खुलेंगे, लेकिन कोई दर्शक नहीं होगा
-स्टेडियम प्रेक्टिस के लिए खोले जाएंगे
-सरकारी दफ्तर खुलेंगे
-सरकारी कैंटीन चलती रहेगी
- कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जोन में एक राज्य से दूसरे राज्यों में आपसी सहमति से बसें जा पाएंगी


क्या बंद रहेगा
-हवाई उड़ानें बंद रहेंगी
-मेट्रो रेल सेवाएं बंद रहेंगी
-स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे
-होटल-रेस्तरां बंद रहेंगे
-सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम पहले की तरह बंद रहेंगे
-धार्मिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक आयोजनों पर पाबंदी जारी रहेगी

पंजाब में लॉकडाउन का ऐलान
केंद्र की गाइडलाइन जारी होने से पहले ही पंजाब, महाराष्ट्र और तमिलनाडु सरकार 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला ले चुकी है। शनिवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंद सिंह ने लॉकडाउन को बढ़ाए जाने का ऐलान किया था। हालांकि, सीएम ने कहा था कि 18 मई से छोटे दुकानदारों और बिजनेसमैन को दुकानें खोलने की इजाजत दी जाएगी। पंजाब में 18 मई के बाद कर्फ्यू नहीं होगा सिर्फ लॉकडाउन रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब में स्कूल नहीं खुलेंगे। बच्चों को स्कूल में अलग-अलग नहीं रखा जा सकताय़ उन्होंने कहा कि रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन को समझना मुश्किल है इसलिए पंजाब में कंफाइनमेंट जोन और नॉन कंफाइनमेंट जोन बनाएंगे।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन का ऐलान
महाराष्ट्र सरकार ने भी रविवार को आदेश जारी कर लॉकडाउन बढ़ाने की जानकारी दी। इस आदेश में सभी सरकारी महकमों को गाइडलाइन का पालन करने का निर्देश दिया गया है। पंजाब के बाद महाराष्ट्र दूसरा राज्य बन गया है, जहां लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। इससे पहले गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में महाराष्ट्र में राजधानी मुंबई सहित सभी हॉटस्पॉट इलाकों में लॉकडाउन को बढ़ाकर 31 मई तक करने का फैसला लिया गया था। लेकिन अब पूरे राज्य में लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। बती दें कि महाराष्ट्र में कोरोना की वजह से 1100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले मुंबई में संक्रमण से 696 मौतें हुई हैं।

जम्मू कश्मीर में लॉकडाउन का अनुभव रखने वाली अर्धसैनिक बलों की 10 टुकड़ियां राज्य में होंगी तैनात

राज्य में लॉकडाउन के चौथे चरण में इसका सख्ती से पालन करने की जिम्मेदारी अर्धसैनिक बलों  को सौंपी जाएगी। इसके लिए खास तौर पर अर्धसैनिक बलों की उन 10 टुकडियों को राज्य में तैनात किया जाएगा जो जम्मू कश्मीर में तैनात रहीं थीं और उनके पास इस काम का अनुभव है। गृहविभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। राज्य में लोग डाउन के तीन चरण बीत जाने के बावजूद कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। काफी  कोशिशों के बावजूद पुलिस लोगों से लॉक डाउन का पालन कराने में पूरी तरह सफल साबित नहीं हो रही है जिसके चलते कोरोना कि श्रृंखला नहीं टूट रही है। इसलिए अब चौथे चरण में ज्यादा प्रभावित इलाकों में लॉकडाउन का पालन कराने की जिम्मेदारी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को सौंपने का फैसला किया गया है।  राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 20 टुकड़ियां मंगाई गई है इनमें से 9 आ चुकीं हैं जिन्हें मुबई, पुणे, औरंगाबाद, मालेगांव और अमरावती में तैनात किया गया है। जरूरत के मुताबिक दूसरे इलाकों में भी अर्धसैनिक बलों को तैनात किया जाएगा। देशमुख ने कहा कि महाराष्ट्र के करीब सवा दो  लाख पुलिस वाले अपनी जान जोखिम में डालकर दिन रात अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं अब उन्हें थोड़ी आराम की जरूरत है इसीलिए कुछ इलाकों में केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की तैनाती की जा रही है। कश्मीर में तैनात राह चुकी 10 टुकड़ियों के अलावा राज्य में रैपिड एक्शन फोर्स की चार सीआरपीएफ की दो सीआईएसएफ की तीन और मुंबई स्थित आरएएफ़ की एक यूनिट भी तैनात की जाएंगी। 31 मई तक चलने वाले लॉक डाउन के चौथे चरण के दौरान स्थानीय पुलिस भी अर्धसैनिक बलों की पूरी मदद करेगी।  

तमिलनाडु में लॉकडाउन
तमिलनाडु सरकार ने 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जाने के साथ ही राज्य के 25 जिलों को विशेष राहत दी है। इनमें से कुछ जिले हैं कोयम्बटूर, सलेम, वेल्लोर, नीलगिरी, कन्याकुमारी, त्रिची, ईरोड, कृष्णानगरी और मदुरई। सरकार ने लोगों से अपील की है कि सिर्फ काम के लिए ही ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करें, ताकि संक्रमण कम से कम हो। तमिलनाडु में कोरोना मरीजों की संख्या 10585 हो गई हैं। यहां 3538 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि इलाज के दौरान 74 मरीजों की मौत हो गई है।

कमेंट करें
1Jv8m
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।