comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

#VizagGasLeak: एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री से जहरीली गैस लीक, 11 की मौत, CM जगन ने किया मुआवजे का ऐलान

May 08th, 2020 02:33 IST

हाईलाइट

  • विशाखापट्टनम में एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीकेज
  • वेंकटपुरम गांव में स्थित है मल्टीनेशनल कंपनी एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री

डिजिटल डेस्क, विशाखापट्टनम। विशाखापट्टनम के वेंकटपुरम गांव में गुरुवार तड़के करीब 3 बजे मल्टीनेशनल कंपनी एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री से गैस लीक होने से 11 लोगों की मौत हो गई। इनमें एक बच्चा भी शामिल है। वहीं गैस के रिसाव से 5 हजार से ज्यादा लोग बीमार पड़ गए हैं। मामला सामने आने के तुरंत बाद, स्थानीय पुलिस ने लोगों को इलाके से बाहर निकाला। पुलिस ने एलजी पॉलिमर्स इंडस्ट्री के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। हालांकि, गैस लीकेज के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है।

गैस के रिसाव का असर 3 किलोमीटर के क्षेत्र में देखने को मिल रहा है। कई लोग सड़कों पर अचेत अवस्था में पड़े देखे गए जबकि कुछ को सांस लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ा। लोगों ने उनके शरीर पर चकत्ते, आंखों के लाल होने और उल्टी की भी शिकायत की। इसके बाद इन सभी लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गैस रिसाव की जानकारी मिलने के बाद एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें भी रेस्क्यू के लिए घटना स्थल पर पहुंच गई। पुलिस, फायर टेंडर और ऐंबुलेंस मौके पर मौजूद हैं।

बता दें कि एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री को 1961 में पॉलीस्टाइन और इसके को-पॉलिमर की मैन्युफैक्चरिंग के लिए स्थापित किया गया था। उस समय इस कंपनी का नाम हिंदुस्तान पॉलिमर था। 1978 में यूबी ग्रुप की कंपनी मैक डॉवल के साथ इसका मर्जर हो गया था।

सीएम जगनमोहन रेड्डी ने अस्पताल में पीड़ितों से की मुलाकात
गैस रिसाव की घटना को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने जिले के अधिकारियों को स्थिति को नियंत्रण में लाने और प्रभावित हुए लोगों को बचाने के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया है। सीएम सीएम जगन मोहन रेड्डी विशाखापट्टनम के किंग जॉर्ज अस्पताल पहुंचे और पीड़ितों से मुलाकात की। इस दौरान सीएम ने मुआवजे का ऐलान किया।

हादसे में जान गंवाने पर लोगों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की गई है। साथ ही पीड़ितों को 10-10 लाख रुपये और डिस्चार्ज किए जा चुके लोगों को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी। पांच सदस्यीय कमेटी पूरे मामले की जांच करेगी।

पीएम मोदी ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना को लेकर NDMA के साथ इमरजेंसी मीटिंग की। वहीं उन्होंने ट्वीट कर कहा, गैस रिसाव की घटना को लेकर मैंने गृह मंत्रालय से बात की है। वहां की स्थिति के बारे में एमएचए और एनडीएमए के अधिकारियों से बात की जिस पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी विशाखापट्टनम में गैस लीक की घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, विशाखापट्टनम में हुई यह घटना परेशान करने वाली है। एनडीएमए के अधिकारियों और संबंधित अधिकारियों से बात की है। हम स्थिति पर लगातार और बारीकी से नजर रख रहे हैं।

राहुल गांधी ने जताया दुख
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना पर दुख जताते हुए पार्टी के स्थानीय नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से प्रभावित लोगों की हरसंभव मदद का आह्वान किया। उन्होंने ट्वीट किया, 'मैं विशाखापट्टनम में गैस लीक के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। मैं इलाके के कांग्रेस के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि वे प्रभावित लोगों की हरसंभव मदद करें। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं अस्पताल में भर्ती लोगों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।'

Sun Brightness: पहले से कम चमक रहा है सूरज, पांच गुना कम हुई रोशनी, वैज्ञानिक भी हैरान

गैस कांड को लेकर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग (NHRC) ने आंध्र प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। 

कमेंट करें
9nSdW