comScore

राजस्थान: राज्यसभा चुनाव से पहले घमासान, सीएम अशोक गहलोत बोले- हमारे विधायकों को तोड़ने की साजिश


हाईलाइट

  • राज्यसभा चुनाव से पहले ही राजस्थान में सियासी घमासान

डिजिटल डेस्क, जयपुर। आगामी 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव से पहले ही राजस्थान में सियासी घमासान मच गया है। कांग्रेस पार्टी बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगा रही है। इसी बीच शुक्रवार को राज्यसभा चुनाव के उम्मीदवार और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल की विधायकों के साथ बैठक हुई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सीएम ने कहा कि, देश में लोकतंत्र की हत्या हो रही है। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को कोरोना की चिंता नहीं है। हमारे विधायकों को तोड़ने की साजिश की जा रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, राज्यसभा के चुनाव दो महीने पहले हो सकते थे, तैयारी भी हो गई थी। इसके बावजूद अचानक चुनाव को बिना कारण के स्थगित कर दिया गया क्योंकि बीजेपी की होर्स ट्रेडिंग पूरी नहीं हुई थी।

गहलोत ने कहा, मोदी जी कहते हैं कांग्रेस मुक्त भारत बनाएंगे, भारत कांग्रेस मुक्त कभी नहीं होगा। देश के रग-रग में कांग्रेस है, देश के DNA में है। लेकिन मोदी जी, उनकी सरकार, उनकी पार्टी वो नेस्तनाबूद कब हो जाए तो आश्चर्य नहीं करना चाहिए क्योंकि जनता उनके कारनामों को देख चुकी है।

राज्यसभा चुनाव: संकट में गहलोत सरकार, भाजपा पर खरीद-फरोख्त का आरोप, रिसॉर्ट भेजे गए विधायक

वहीं डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा, राज्यसभा चुनाव में हमारे दोनों प्रत्याशी निश्चित तौर पर जीत हासिल करेंगे। कांग्रेस का हर कार्यकर्ता और विधायक एक साथ था, है और आगे भी साथ रहेगा। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, महामारी के बीच पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की जोड़ी लोकतंत्र को ध्वस्त करने में जुटी है। कोरोना संकट के दौर में भी राजस्थान सरकार को अस्थिर करने की साजिश की गई। कोरोना से लड़ने में भीलवाड़ा मॉडल की देशभर में तारीफ हुई। मोदी-शाह प्रजातंत्र का चीरहरण करने का प्रयास कर रहे हैं।

कमेंट करें
iXdVj