दैनिक भास्कर हिंदी: RSS की मर्जी के बिना बीजेपी में कोई मंत्री नहीं बनता: अशोक गहलोत

March 22nd, 2019

हाईलाइट

  • राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने आरएसएस और बीजेपी पर बोला हमला।
  • RSS ने सरकार पर अतिरिक्त संवैधानिक अधिकार बना रखा है। 
  • RSS से पूछे बिना बीजेपी में कोई भी मुख्यमंत्री या मंत्री नहीं बनता।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों में गहमागहमी बढ़ गई है। इसी बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक गहलोत ने आरएसएस और बीजेपी पर तीखा हमला बोला है। गहलोत का कहना है कि आरएसएस का सरकार पर अतिरिक्त संवैधानिक अधिकार है। आरएसएस की मर्जी के बिना बीजेपी में कोई भी मुख्यमंत्री या मंत्री नहीं बनता है। 

राजस्थान के मुख्यंत्री अशोक गहलोत ने कहा, आरएसएस का सरकार पर अतिरिक्त संवैधानिक अधिकार है। बिना आरएसएस की मर्जी के कोई मुख्यमंत्री या मंत्री नहीं बनता है। बीजेपी की मौजूदा स्थिति यही है, आरएसएस की मर्जी के बिना यहां कोई फैसला नहीं लिया जाता है। गहलोत ने कहा, आरएसएस को एक राजनीतिक पार्टी में बदल देना चाहिए और बीजेपी के साथ विलय करना चाहिए। हमें इससे कोई दिक्कत नहीं है।

उन्होंने कहा, आरएसएस एक सांस्कृतिक संगठन है, उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। जब आरएसएस को प्रतिबंधित किया गया था, तो उन्होंने लिखित में दिया था कि वे राजनीति में शामिल नहीं होंगे और एक सांस्कृतिक संगठन बने रहेंगे। उन्हें अपने शब्दों पर अडिग रहना चाहिए।