दैनिक भास्कर हिंदी: मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी में 1 मई से आएगा बड़ा बदलाव, कमलनाथ संभालेंगे मोर्चा

April 29th, 2018

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी में 1 मई से एक बड़ा बदलाव होने वाला है। पिछले 15 सालों में सत्ता से दूर कांग्रेस पार्टी ने एक नए बदलाव की आस में वरिष्ठ पार्टी नेता और 9 बार के सांसद कमलनाथ को प्रदेश की कमान सौंपी है। साथ ही गुना सासंद ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। जिनमें बाला बच्चन, रामनिवास रावत, जीतू पटवारी और सुरेंद्र चौधरी शामिल हैं। यह सभी नेतागण 1 मई से अपने पदभार संभाल लेंगे। इस राज्याभिषेक के दौरान कांग्रेस के बड़े दिग्गज नेता भी मौजूद रहेंगे।

कांग्रेस के नवनियुक्त राज्य इकाई प्रमुख कमलनाथ ने कहा कि अगले दिनों में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन कर सकती है। उन्होंने कहा केंद्रीय नेतृत्व से बातचीत के बाद सपा, बसपा और गोंडवाना जैसे समान विचारधारा वाले दलों से बातचीत की जाएगी। इस बीच, 1 मई को प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कमलनाथ के राज्याभिषेक की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

युवाओं, महिलाओं को मिलेगा स्थान
उन्होंने कहा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में मेरी प्राथमिकता युवाओं और महिलाओं की समुचित भागीदारी सुनिश्चित करना होगी। उन्होंने कहा राज्य में कांग्रेस का बेहतरीन संगठन है। हम इस बार भाजपा पर निर्णायक बढ़त हासिल करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा हमें लोगों में विश्वास पैदा करना कि सत्ता में आने के बाद हम प्रदेशवासियों के हितों के लिए बेहतर कदम उठाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं जल्दी ही प्रदेश में दौरा शुरू करूंगा, ताकि राज्य की प्राथमिकताओं को ठीक तरह से समझ सकूं। पार्टी के वरिष्ठ नेता मिलकर प्रदेश के विभिन्न अंचलों में जाएंगे।

सत्ता में आए तो बदलेंगे राज्य की तस्वीर
उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों के लोग-किसान, महिलाएं, युवा और आम आदमी, शिवराज सरकार के कुशासन से तंग आ गया है। आदिवासी, अनुसूचित जाति वर्ग प्रताडि़त हो रहा है। महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं, बदहाल किसान आत्महत्या कर रहे है। बेरोजगार युवा हताशा में है। नाथ ने दावा किया कि कांग्रेस सत्ता में आई तो मध्यप्रदेश को विकसित राज्य के दर्जे में लाने का प्रयास करेगी। कांग्रेस पिछले 15 सालों से सत्ता से बाहर है। यही वजह है कि प्रदेश बुरी तरह बदहाली का शिकार हो गया है।