दैनिक भास्कर हिंदी: राहुल से मिले कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, अध्यक्ष बने रहने का किया आग्रह

July 2nd, 2019

हाईलाइट

  • कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से राहुल गांधी से सोमवार को मुलाकात की
  • सभी ने राहुल से मिलकर लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार पर अपने विचार व्यक्त किए
  • राहुल ने इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं की कि क्या वे पार्टी अध्यक्ष बने रहेंगे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से राहुल गांधी से सोमवार को मुलाकात की। इस दौरान सभी ने लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार पर अपने विचार व्यक्त किए। यह बैठक पार्टी में राहुल की भविष्य की भूमिका और विभिन्न स्तरों पर कांग्रेस नेताओं के इस्तीफा देने के बीच हुई है। रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि राहुल ने इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं की कि क्या वे कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में अपने पद पर बने रहेंगे या नहीं? जबकि सभी मुख्यमंत्रियों ने राहुल से पार्टी का नेतृत्व करते रहने का आग्रह किया।

लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद राहुल गांधी ने CWC को बताया था कि वह पार्टी प्रमुख के पद से इस्तीफा देना चाहते हैं। इस घटनाक्रम के बाद पहली बार सोमवार को कांग्रेस शासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों ने एक साथ उनसे मुलाकात की है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, जो बैठक का हिस्सा थे, ने संवाददाताओं से कहा, 'बैठक अच्छी रही, हमने लगभग 2 घंटे तक बात की, हमने उन्हें अपने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं की भावनाओं से अवगत कराया। हमें उम्मीद है कि वह हमारे विचारों पर ध्यान देंगे।'

गहलोत ने कहा, 'दूसरों ने देशभक्ति के नाम पर देश को गुमराह किया। मोदीजी ने सेना के पीछे छिपकर राजनीति की, धर्म के नाम पर लोगों को गुमराह किया। उन्होंने विकास, अर्थव्यवस्था और रोजगार के बारे में बात नहीं की।'

अशोक गहलोत ने उनके और मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के राहुल गांधी को इस्तीफा सौंपने की खबरों को लेकर कहा कि नतीजे आए दिन सामने आते हैं, मुख्यमंत्रियों को अपना इस्तीफा देना पड़ता है, फिर हाईकमान फैसला करता है कि क्या किया जाए?

बता दें कि आज की बैठक में आम चुनावों में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन पर विचार-मंथन किया गया। खासकर हिंदी हार्टलैंड राज्यों में जहां पिछले दिसंबर में पार्टी ने विधानसभा चुनाव जीते थे। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी बैठक का हिस्सा थे।

गहलोत ने इससे पहले ट्विटर पर सूचित किया था कि मुख्यमंत्री अपनी एकजुटता दिखाएंगे और आम चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी भी लेंगे। गहलोत ने कहा था, 'कांग्रेस शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों की बैठक अपनी एकजुटता दिखाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निवास पर होगी। इससे पहले भी हम कह चुके हैं कि हम कांग्रेस प्रेसिडेंट के साथ हैं और 2019 की में मिली हार की जिम्मेदारी हम लेते हैं।'

खबरें और भी हैं...