दैनिक भास्कर हिंदी: राजनीति: बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को निलंबित करने की बजाय DA काटना अमानवीय- राहुल गांधी

April 25th, 2020

हाईलाइट

  • राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना
  • डीए काटना सरकार का असंवेदनशील तथा अमानवीय निर्णय- राहुल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का महंगाई भत्ता रोकने को लेकर मोदी सरकार पर हमला किया है। उन्होंने कहा कि सरकार का निर्णय अंसवेदनशील और अमानवीय है। राहुल नें ट्वीट कर लिखा कि लाखों करोड़ की बुलेट ट्रेन परियोजना और केंद्रीय विस्टा सौंदर्यीकरण परियोजना को निलंबित करने की बजाय कोरोना से जूझ कर जनता की सेवा कर रहे केंद्रीय कर्मचारियों, पेंशन भोगियों और देश के जवानों का डीए काटना सरकार का असंवेदनशील तथा अमानवीय निर्णय है। 

बता दें कि केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए की तीन अतिरिक्त किश्तों पर रोक लगाने का फैसला किया है। इसमें इस वर्ष 1 जनवरी से लागू की गई चार फीसदी महंगाई दर शामिल है। सरकार ने इसका ऐलान पिछने महीने किया था। हालांकि सरकार ने साफ है कि कर्मचारियों को वर्तमान दर के हिसाब से डीए मिलता रहेगा। 

सुरजेवाला भी मोदी सरकार पर साथ चुके हैं निशाना
इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि कोविड 19 के संकट से पैदा हुई आर्थिक मंदी और आय की तंगी पर मरहम लगाने की बजाय सरकार जले पर नमक छिड़क रही है। सुरजेवाला ने कहा, 30,42,000 करोड़ रुपए का बजट पारित किया गया है। बजट में आय व खर्चे का लेखा-जोखा स्पष्ट तौर से किया जाता है। बजट पेश करने के 30 दिनों के अंदर सरकार सेना, सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के महंगाई भत्ते पर कैंची चलाकर क्या साबित करना चाहती है। 

कोरोना से लड़ने सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को दिए 5 सुझाव, बताया किस तरह बचेंगे करोड़ों रुपए

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नोवल कोरोना वायरस बढ़के प्रकोप के बावजूद सरकार ने 20 हजार करोड़ रुपए की लागत वाली सेंट्रल विस्टा परियोजना को बंद नहीं किया।