दैनिक भास्कर हिंदी: क्या गोवा में बदलेगी सत्ता? कांग्रेस विधायकों ने की राज्यपाल से मुलाकात

September 19th, 2018

हाईलाइट

  • कांग्रेस ने मंगलवार को राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात की।
  • कांग्रेस ने राज्यपाल से बीजेपी सरकार को विधानसभा में बहुमत साबित करने का निर्देश देने के लिए कहा।
  • गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर कई दिनों से बीमार चल रहे हैं।

डिजिटल डेस्क, पणजी। क्या गोवा की सत्ता में बदलाव होने जा रहा है? क्या कांग्रेस उलटफेर कर गोवा में अपनी सरकार बनाएगी? ये सवाल इसलिए उठ रहे हैं क्योंकि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर कई दिनों से बीमार चल रहे हैं। उनका अमेरिका में इलाज चल रहा था वहां से लौटने के बाद अब उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है। ऐसे में कांग्रेस ने मंगलवार को राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात कर बीजेपी सरकार को विधानसभा में बहुमत साबित करने का निर्देश देने के लिए कहा। दरअसल, गोवा के कांग्रेसी विधायक मौजूदा सरकार को बर्खास्त करने और वैकल्पिक सरकार बनाने के लिए दावेदारी पेश करने की मांग कर रहे हैं।

विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस विधायकों ने मांग करते हुए कहा कि राज्यपाल को विधानसभा का एकदिवसीय सत्र बुलाकर बहुमत साबित करवाना चाहिए। कावलेकर ने कहा, राज्य सरकार सदन में साबित करें कि उसके पास बहुमत है नहीं तो वह दिखाएंगे कि उनके पास बीजेपी से ज्यादा विधायक हैं। चंद्रकांत ने कहा कि राज्य में कांग्रेस पहले से ही सबसे बड़ी पार्टी है। राज्यपाल ने कांग्रेस के विधायकों को आश्वस्त किया है कि वह 3-4 दिनों में इस पर आगे फैसला लेंगी। इससे पहले कांग्रेस विधायकों ने सोमवार को राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया था। इसमें उन्होंने आग्रह किया था कि वह विधानसभा भंग नहीं करें, बल्कि वैकल्पिक सरकार बनाने के लिए उनकी पार्टी को आमंत्रित करें।

उधर, गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के प्रमुख विजय सरदेसाई ने बताया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने फोन कर उनसे गोवा में राजनीतिक हालात और 'स्थिरता सुनिश्चित करने' के विषय पर चर्चा की। जीएफपी बीजेपी की सहयोगी पार्टी है और राज्य में उसके तीन विधायक हैं।

गोवा विधानसभा की मौजूदा स्थिति की बात करें तो 40 सदस्यों वाली गोवा विधानसभा में कांग्रेस के 16 विधायक हैं जबकि बीजेपी के पास अभी 14 विधायक हैं। बीजेपी को महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के 3, गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के 3 के साथ तीन निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है। हालांकि, यह नंबर गेम बीजेपी के तीन विधायकों का स्वास्थ्य खराब होने के कारण बिगड़ रहा है। पर्रिकर गंभीर रूप से पीड़ित हैं, शहरी विकास मंत्री फ्रांसिस डिसूजा न्यूयॉर्क में इलाज करा रहे हैं, जबकि बिजली मंत्री पांडुरंग मडकइकर कुछ महीनों से ब्रेनस्ट्रोक से पीड़ित हैं। कांग्रेस और एनसीपी के पास 17 विधायक हैं।