दैनिक भास्कर हिंदी: राज ठाकरे बोले- बीजेपी को सत्ता से बाहर करें, अब राहुल ही बनें प्रधानमंत्री

April 7th, 2019

हाईलाइट

  • राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहिए- राज ठाकरे
  • दूसरे एडोल्फ हिटल हैं मोदी- राज ठाकरे
  • देश मोदी-शाह नाम के संकटों का सामना कर रहा है- राज ठाकरे

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है। ठाकरे ने पीएम मोदी को दूसरा एडोल्फ हिटलर बताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अगला प्रधानमंत्री बनाए जाने की हिमायत की है। ठाकरे ने कहा, मैं गुड़ी पड़वा के शुभ अवसर पर देश के मोदी मुक्त होने की कामना करता हूं। अब समय बदल गया है जिस तरह देश की जनता ने मोदी को प्रधानमंत्री बनने का मौका दिया था, उसी तरह राहुल गांधी को भी प्रधानमंत्री बनने का मौका दिया जाना चाहिए। ठाकरे ने कहा, राहुल गांधी को पीएम पद के लिए चुनना सही होगा, हो सकता है राहुल देश के लिए बेहतर करें। 

ठाकरे ने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले से उन्हें नहीं पता था कि उनकी मां हैं, लेकिन जैसे ही वह पीएम बने, मीडिया के लोगों के साथ मां से मिलने पहुंच जाते हैं। बीजेपी चुनाव जीतने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। अगर वे पैसा देने के लिए आते हैं तो उसे ले लो, क्योंकि वो हमें लूट चुके हैं, लेकिन उन्हें बिल्कुल वोट न दें और उन्हें सत्ता से उखाड़ फेंके। ठाकरे ने कहा, हमारा देश आज मोदी और शाह नाम के संकटों का सामना कर रहा है। हमारे प्रधानमंत्री को फेकू के नाम से जाना जाता है। इंटरनेट पर जाएं और फेकू को खोजें हमारे पीएम नरेंद्र मोदी का नाम पॉप अप होगा।

अपने संबोधन के दौरान ठाकरे ने अमेरिका के एक बयान का जिक्र किया जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान के बेड़े में शामिल सभी एफ-16 विमानों का हिसाब है जबकि भारत सरकार का दावा है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के एक एफ-16 विमान को मार गिराया गया था। ठाकरे ने कहा कि इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने झूठ क्यों बोला? उन्हें इसका जवाब देना चाहिए। ठाकरे ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमला कैसे हुआ? सीमाओं पर सेना तैनात है फिर भी आरडीएक्स कहां से आया? मैं मोदी से पूछता हूं कि यह विस्फोटक भारत में कैसे आया? अमित शाह ने कहा कि 250 आतंकी मारे गए थे, क्या वह एयरस्ट्राइक के दौरान सह पायलट थे।  वायुसेना के पास आंकड़े नहीं हैं, तो बीजेपी को सटीक आंकड़े कैसे मिले?

खबरें और भी हैं...