comScore

Coronavirus: केरल में संक्रमण का पहला मामला, वुहान में फंसे भारतीयों को विमान से लाने की तैयारी  

Coronavirus: केरल में संक्रमण का पहला मामला, वुहान में फंसे भारतीयों को विमान से लाने की तैयारी  

हाईलाइट

  • मलेशिया में त्रिपुरा के युवक की मौत
  • दुनिया के 18 देशों में संक्रमण के मामले
  • भारत समेत 30 देशों में सबसे ज्यादा खतरा

डिजिटल डेस्क, कोच्चि। कोरोना वायरस ने चीन में हाहाकार मचा रखा है। वहां अब तक इस वायरस की चपेट में आने से 170 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 7711 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि की हुई है। वहीं गुरुवार को भारत में इस वायरस का पहला मामला सामने आया है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, वुहान से केरल लौटे छात्र में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। फिलहाल छात्र की हालत नाजुक बनी हुई है, उसके स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। बताया जा रहा है कि छात्र वुहान के विश्वविद्यालय में पढ़ता है और केरल में अपने घर लौटा था। भारत ने चीन में फंसे अपने नागरिकों को एयरलिफ्ट करने की तैयारी की है। शुक्रवार को 2 विमान भारतीय नागरिकों को स्वदेश लाने के लिए वुहान पहुंच सकते हैं।

भारत ने वुहान और आस-पास रहने वाले नागरिकों को एयरलिफ्ट करने के लिए चीन की सरकार से इजाजत मांगी है। बीजिंग में भारतीय दूतावास ने कहा- हम शुक्रवार शाम को वुहान और आस-पास रहने वाले नागरिकों को वापस लाने की तैयारी कर रहे हैं। 

चीन से लौटने वाले स्वास्थ्य ​विभाग को रिपोर्ट करें
केरल में कोरोना वायरस का मामला सामने आने के बाद राज्य स्वास्थ्य मंत्री केके शैलेजा ने कहा है कि 20 नमूनों को जांच के लिए भेजा था।, जिसमें से एक नमूना पॉजीटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि छात्र चीन के वुहान शहर से आया था, अभी उसे त्रिशूर के एक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जो लोग चीन से यात्रा करके लौट रहे हैं, वे फौरन स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट करें। उन्होंने कहा कि विभाग ने उन लोगों के लिए घर संगरोध का निर्देश दिया है जो चीन से लौट रहे हैं। मंत्री ने कहा कि हमने कोरोनोवायरस के समान लक्षणों के साथ आने वाले रोगियों की निगरानी के लिए निजी अस्पतालों सहित सभी अस्पतालों को निर्देशित किया है। स्वास्थ्य विभाग मरीजों को अलग करके इलाज शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

मलेशिया में त्रिपुरा के युवक की कोरोनावायरस से मौत
वहीं मलेशिया में काम करने वाले त्रिपुरा के 23 साल के युवक की कोरोनावायरस से मौत हो गई है। युवक के दादा ने बताया कि मलेशिया के अधिकारियों ने बुधवार सुबह सूचना दी थी। युवक रेस्त्रां में काम करता था और मंगलवार रात उसकी मौत हो गई।

तिब्बत में भी सामने आया कोरोना वायरस का पहला मामला 
तिब्बत में कोरोनावायरस के पहले मामले की पुष्टि होने की खबर है। तिब्बत में पहला मामला तब सामने आया जब चीन के हुबेई प्रांत के 34 साल के एक व्यक्ति ने तिब्बत की यात्रा के दौरान बीमार पड़ा।

भारत समेत 30 देशों में सबसे ज्यादा खतरा
कोरोना वायरस का पहला मामला दिसंबर में चीन के वुहान शहर में सामने आया था। इसके बाद अब तक करीब 16 देशों में कोरोना वायरस के मामले की पुष्टि हो चुकी है। साउथहैम्पटन यूनिवर्सिटी के अध्ययन के मुताबिक, संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा थाईलैंड में है। लिस्ट में जापान दूसरे और हॉन्गकॉन्ग तीसरे नंबर पर है। ऑस्ट्रेलिया 10वें, ब्रिटेन 17वें नंबर पर है। इस लिस्ट में भारत का नंबर 23वां है।

करीब 19 देशों में कोरोना वायरस के मामले की पुष्टि
चीन के अलावा दुनिया के करीब 18 देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं। बुधवार सुबह तक थाईलैंड में 14, हॉन्गकॉन्ग में 10, ताइवान में 8, जापान, सिंगापुर, मकाऊ और मलेशिया में 7-7, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में 5-5, दक्षिण कोरिया, यूएई और जर्मनी में 4-4, कनाडा और वियतनाम में 2-2, कंबोडिया और नेपाल में 1-1 मामले की पुष्टि हो चुकी है। भारत के केरल में गुरुवार को पहला मामला सामने आया है।

इन बातों का रखें ध्यान

  • 20 सेकंड तक साबुन से हाथ धुलें
  • साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें
  • आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें
  • बीमार लोगों से दूरी बनाकर रखें
  • सार्वजनिक स्थानों पर जाने से पहले एन-95 मास्क पहनें
  • सर्दी, जुकाम, बुखार, कफ की शिकायत पर अस्पताल जाएं
कमेंट करें
zcJlj