comScore

Coronavirus in India: बीते 24 घंटों में आए 12 हजार के करीब मामले, संक्रमित मरीजों की संख्या 3 लाख 20 हजार के पार

Coronavirus in India: बीते 24 घंटों में आए 12 हजार के करीब मामले, संक्रमित मरीजों की संख्या 3 लाख 20 हजार के पार

हाईलाइट

  • भारत में नोवल कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या तीन लाख 20 हजार के पार
  • देश में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के सर्वाधिक 11 हजार 929 नए मामले सामने आए
  • भारत में कोरोनावारस से अब तक 9195 लोगों की जान गई

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में नोवल कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या तीन लाख 20 हजार के पार चली गई है। रविवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के सर्वाधिक 11 हजार 929 नए मामले सामने आए हैं और 311 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 3 लाख 20 हजार 922 हो गए हैं। अब तक 9195 लोगों की जान गई है। 1 लाख 49 हजार 348 सक्रिय मामले हैं जबकि 1 लाख 62 हजार 379 मरीज ठीक हो चुके हैं। अमेरिका, ब्राजील, रूस के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में भारत चौथे स्थान पर है।

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा एक्टिव केस
भारत में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है जहां संक्रमितों की संख्या 10641 है। इनमें से 49346 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 3830 लोगों की मौत हुई है। 51 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर दिल्ली, तीसरे नंबर पर तमिलनाडु, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। दिल्ली में एक्टिव केस की संख्या 22,700 के करीब है। जबकि तमिलनाडु में एक्टिव केस की संख्या 18,800 के करीब है। गुजरात में एक्टिव केस की संख्या 5,700 से ज्यादा है।

क्रमांकराज्य का नामकोरोना के कुल मामले (11 विदेशी नागरिक शामिल)ठीक हुए/डिस्चार्ज हुएमौत
1अंडमान निकोबार38330
2आंध्र प्रदेश5965319582
3अरुणाचल प्रदेश8740
4असम371815848
5बिहार6290395639
6चंडीगढ़3452865
7छत्तीसगढ़15126316
8दिल्ली38958149451271
9गोवा523700
10गुजरात23038158831448
11हरियाणा6749280378
12हिमाचल प्रदेश5023136
13जम्मू कश्मीर4878226955
14झारखंड17118168
15कर्नाटक6824364881
16केरल2407104619
17लद्दाख437681
18मध्य प्रदेश106417377447
19महाराष्ट्र104568493463830
20मणिपुर449910
21मेघालय44221
22मिजोरम10710
23ओडिशा3723259410
24पुद्दुचेरी176822
25पंजाब3063232765
26राजस्थान124019337282
27तमिलनाडु4268723409397
28तेलंगाना47372352182
29त्रिपुरा10463151
30उत्तराखंड1785107723
31उत्तर प्रदेश131187875385
32पश्चिम बंगाल106984542463
भारत में कुल मरीजों की संख्या3209221623789195
कमेंट करें
9Ptq6
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।