comScore

JNU छात्रों की चेतावनी: फीस वापस होने तक करेंगे आंदोलन, संसद भी घेरेंगे


हाईलाइट

  • JNU के छात्रों और दिल्ली पुलिस के बीच सोमवार को झड़प हुई थी
  • दिल्ली पुलिस ने सोमवार को 100 छात्रों को गिरफ्तार किया था
  • दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे JNU छात्रों पर FIR दर्ज की

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली की जवाहर लाल यूनिवर्सिटी में हॉस्टल फीस बढ़ोतरी को लेकर प्रदर्शन मंगलवार को भी जारी रहा। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने अज्ञात छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज की है। वहीं छात्रों ने मीडिया से चर्चा में कहा कि फीस वापस होने तक आंदोलन करेंगे और इस दौरान बार-बार संसद घेरेंगे। गौरतलब है कि सोमवार को दिल्ली की सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे JNU के छात्रों और दिल्ली पुलिस के बीच झड़प हुई। इसमें कई छात्र घायल भी हुए। शाम होते-होते दिल्ली पुलिस ने करीब 100 छात्रों को गिरफ्तार भी किया जिन्हें बाद में समझाइश देकर छोड़ दिया गया।

23 दिन से मांग कर रहे, लेकिन कोई नहीं सुन रहा
JNU छात्रों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम बीते 23 दिन से मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई भी हमारी बात नहीं सुन रहा है। दिल्ली पुलिस ने छात्रों पर जो लाठी भांजी है, वह बर्बरता है। कई छात्र जो घायल हैं, वे प्रेस कॉन्फ्रेंस का हिस्सा नहीं बन पाए। छात्रों ने बताया कि हमारी बात कोई नहीं सुन रहा था, इस कारण हमने संसद सत्र के पहले दिन को चुना, ताकि हम अपनी आवाज पहुंचा सकें।

JNU छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने आरोप लगाया कि जिस बस में उन्हें पुलिस पकड़ कर ले गई, वो सीधा पुलिस स्टेशन नहीं ले गए, बल्कि यूं ही घुमाते रहे। छात्रा ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस के पुरुष जवानों ने छात्राओं को पकड़ा, जो कि पूरी तरह से गलत है। उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्रालय की ओर से जिस कमेटी का गठन किया गया, उसने छात्रों से मिलने से इनकार कर दिया। आइशी घोष ने कहा कि जब VC हमसे बात करने के लिए तैयार नहीं हैं, तो हम अपना प्रदर्शन क्यों रोकें।

JNU छात्रों पर दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR
JNU छात्रों द्वारा सोमवार को किए गए प्रदर्शन पर दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है। सोमवार को धारा 144 होने के बावजूद सैकड़ों की संख्या में छात्र सड़कों पर उतरे थे। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया था, जिसमें कई छात्र घायल भी हो गए थे। कानून का उल्लंघन करने के आरोप में किशनगढ़ थाने में ये मुकदमा दर्ज किया गया है।

JNU छात्रों की मांगें, जिन पर हंगामा
JNU में हॉस्टल फीस में हुई बढ़ोतरी के कारण छात्र सड़कों पर उतरे और अपनी मांग को सरकार के सामने रखा। अभी भी छात्र इन मांगों पर अड़े हुए हैं। इनमें पहली मांग हॉस्टल फीस, नए नियमों के आदेश को वापस लेना और फिर पहले की तरह बहाल करने वाली है। इसके बाद JNU प्रशासन और छात्रों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू किया जाए और तीसरी हॉस्टल के पुराने नियमों को बहाल करने की मांग है।

कमेंट करें
qA68O