comScore

राफेल डील पर राहुल ने फिर सरकार को घेरा, कहा- दाम पूछने पर असहज हो जाते हैं पीएम

July 22nd, 2018 23:34 IST
राफेल डील पर राहुल ने फिर सरकार को घेरा, कहा- दाम पूछने पर असहज हो जाते हैं पीएम

हाईलाइट

  • राफेल जेट सौदे को लेकर कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार को घेरा है।
  • राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट करते हुए पीएम और डिफेंस मिनिस्टर पर साधा निशाना।
  • पीएम से जब राफेल के प्राइज के बारे में पूछो तो वो असहज हो जाते हैं ।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राफेल जेट सौदे को लेकर कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार को घेरा है। राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट करते हुए लिखा, "हमारी डिफेंस मिनिस्टर कहती हैं वो इस डील के बारे में बताएंगी, लेकिन अब वो नहीं बता रही हैं। वो इसी के बीच टालमटोल करती रहती हैं कि ये सीक्रेट नहीं है और ये बड़ा सीक्रेट है। पीएम से जब राफेल के प्राइज के बारे में पूछो तो वो असहज हो जाते हैं और मेरी आंखों में नहीं देख पाते। निश्चित तौर पर राफेल सौदे में अब घोटाले का शक गहराता जा रहा है। #RAFALEscam"


क्या कहा था राहुल गांधी ने?
इससे पहले राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा था कि उनकी सरकार ने 520 करोड़ रुपये प्रति प्लेन में डील की थी, पता नहीं क्या हुआ किससे बात हुई और पीएम फ्रांस गए और जादू से हवाई जहाज की कीमत 1600 करोड़ प्रति प्लेन हो गई। उन्होंने कहा कि "मैंने व्यक्तिगत तौर पर फ्रांस के राष्ट्रपति से मुलाकात की और उनसे पूछा कि क्या भारत के साथ सूचना गुप्त रखने का कोई समझौता हुआ है। उन्होंने मुझसे कहा कि ऐसा कोई भी गोपनीय समझौता दोनों देश के बीच नहीं हुआ।"

क्या कहा था फ्रांस ने?
राहुल गांधी के इन आरोपों पर फ्रांस ने कहा था कि दोनों देशों में सूचना गोपनीय रखने का करार है। 2008 के सिक्यॉरिटी अग्रीमेंट में ये करार किया गया था। यहीं वजह है कि इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। हम कानूनी तौर पर इससे बंधे हुए हैं। डील की जानकारी सार्वजनिक करने से सुरक्षा और ऑपरेशनल क्षमता पर असर पड़ सकता है। ऐसे में यही प्रावधान स्वाभाविक रूप से 23 सितंबर, 2016 को हुए उस सौदे पर भी लागू होते हैं, जो 36 राफेल विमानों तथा उनके हथियारों की खरीद के लिए हुआ।

कमेंट करें
QPIVv