दैनिक भास्कर हिंदी: सियाचिन में जवानों से मिले राजनाथ सिंह, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

June 3rd, 2019

हाईलाइट

  • सियाचिन ग्लेशियर और श्रीनगर के दौरे पर राजनाथ सिंह
  • रक्षा मंत्री बनने के बाद राजनाथ सिंह की पहली यात्रा
  • दुनिया का सबसे खतरनाक युद्ध क्षेत्र कहा जाता है सियाचिन

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज (3 जून) दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर और श्रीनगर के दौरे पर हैं। रक्षा मंत्री सोमवार को सियाचिन पहुंचे और यहां शहीदों के मेमोरियल में जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। राजनाथ सिंह ने बेस कैंप में जवानों से मुलाकात सुरक्षा के हालातों पर बातचीत की और उनका हौसला भी बढ़ाया। इस दौरान उनके साथ आर्मी चीफ बिपिन रावत भी मौजूद रहे। बता दें कि सियाचिन ग्लेशियर में अब तक 1100 से अधिक सैनिक शहीद हो चुके हैं।

सियाचिन में राजनाथ सिंह ने अधिकारियों से मुलाकात की और बॉर्डर पर तैयारियों का जायजा लिया। जवानों से मिलने के बाद रक्षा मंत्री ने कहा, हमारी सेना के जवान सियाचिन के कठिन हालातों में भी बड़ी बहादुरी से देश की सुरक्षा कर रहे हैं। यहां की विषम परिस्थितियों और खतरनाक इलाकों के बाद भी सैनिक बड़े साहस और धैर्य के साथ अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। मैं उनकी दृढ़ता और वीरता को सलाम करता हूं।

सियाचिन के बाद राजनाथ सिंह श्रीनगर भी जाएंगे। बता दें कि बतौर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का ये पहला सियाचिन दौरा है। सियाचिन ग्लेशियर में लेह की 14 पलटनें ब्रीफ करेंगी। ये पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) और चीन से सटी सीमाओं की देखरेख करती हैं।

उत्तरी सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और लेह स्थित 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी रक्षा मंत्री को पाकिस्तान से लगी सीमाओं पर सुरक्षा हालात के बारे में और आतंकवाद निरोधक अभियानों के बारे में जानकारी देंगे। बता दें कि सियाचिन ग्लेशियर को दुनिया का सबसे खतरनाक युद्ध क्षेत्र कहा जाता है।