दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली सरकार का आदेश, प्रशासनिक अधिकारी करें किसानों की देखरेख

November 28th, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली सरकार का आदेश, प्रशासनिक अधिकारी करें किसानों की देखरेख

नई दिल्ली, 28 नवंबर (आईएएनएस)। कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली में एकत्र हुए किसानों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए दिल्ली सरकार ने अब बकायदा वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं। डिविजनल कमिश्नर स्तर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी को निरंकारी मैदान पर साफ-सफाई, टॉयलेट, किसानों के रहने, पेयजल आदि की व्यवस्था करने को कहा गया है।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, डिविजनल कमिशनर को निर्देश दिये गये हैं कि संत निरंकरी ग्राउंड में रहने, पानी, मोबाइल टॉयलेट एवं साफ सफाई की व्यवस्था के इंतजाम किए जाएं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में हमारी कोशिश रहेगी कि दिल्ली में पहुंचे सभी किसानों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो।

इससे पहले आम आदमी पार्टी के विधायक एवं अन्य नेता, किसानों के लिए व्यवस्था करने में जुटे थे। हालांकि अब सीधे दिल्ली सरकार की ओर से प्रशासनिक अधिकारियों को किसानों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही बुराड़ी एवं आसपास के आप विधायक भी धरना स्थल पर मौजूद हैं।

इस दौरान बुराड़ी से आम आदमी पार्टी के विधायक संजीव झा ने कहा, हम पूरी तरह से किसानों के साथ हैं। यहां किसानों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करवाई जा रही हैं। पीने के पानी का इंतजाम पहले ही किया जा चुका है। सर्दी के दिन हैं। किसानों के ठहरने के लिए टेंट की व्यवस्था करवाई जा रही है। उनके खाने पीने की व्यवस्था भी करवाई गई है। यह अन्नदाता किसान ही हैं, जिसके कारण हमारे भोजन की थाली सजती है।

संजीव झा ने कहा, किसानों की मांगे जायज हैं, इसीलिए दिल्ली सरकार बुराड़ी के इस ग्राउंड में वो सारी तैयारियां करा रही है, जो किसानों के लिए आवश्यक हैं। जिन किसानों की बदौलत सारा देश खाता है, उससे केंद्र सरकार बात तक नहीं करना चाहती, हम पूरी ताकत के साथ किसानों के संघर्ष में साथ खड़े हैं। किसान अपनी कुछ समस्याओं और मांगों के साथ दिल्ली में आए हैं। ऐसे में हम और दिल्ली के सभी लोग पूरी तरह से किसानों का सहयोग कर रहे हैं।

दिल्ली से आम आदमी पार्टी के विधायक और पार्टी के पंजाब प्रभारी जरनैल सिंह भी पंजाब से आए कई किसानों के संपर्क में हैं। जरनैल सिंह ने कहा, पहले किसानों को बिचौलिया कहा गया और अब उत्तर प्रदेश के मंत्री किसानों को गुंडा कहकर अपमानित कर रहे हैं।

इसी मुद्दे पर आप विधायक आतिशी ने कहा, पंजाब से आये किसानों को गुंडे बोलने वाले यूपी के मंत्री अनिल शर्मा को देश से हाथ जोड़कर माफी मांगनी चाहिए। जिस देश में किसानों की जय होती है, वहां ऐसे बयान की कोई जगह नहीं।

जीसीबी/एएनएम