दैनिक भास्कर हिंदी: चीफ सेक्रेटरी ने CM केजरीवाल की बजट स्पीच की फाइलें लौटाईं : दिल्ली सरकार

March 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार और चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के बीच विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। रविवार को दिल्ली सरकार ने एक बयान जारी कर कहा है कि चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश को आगामी बजट सेशन से जुड़ी कुछ फाइलें दी गईं थीं, जिन्हें उन्होंने लेने से इनकार कर दिया। दिल्ली सरकार का कहना है कि इन फाइलों में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बजट स्पीच की फाइल भी थी। वहीं अफसरों ने दिल्ली सरकार के इन आरोपों को ब्यूरोक्रेट्स का 'उत्पीड़न' करार दिया है। बता दें कि दिल्ली सरकार का बजट सेशन 16 से 28 मार्च तक रहेगा।

चीफ सेक्रेटरी ने फाइलें लेने से मना किया : सरकार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा कि 'ये बहुत ही चौंकाने वाली बात है कि दिल्ली के बजट से कुछ दिन पहले ही रविवार को चीफ सेक्रेटरी ने बजट से जुड़ी फाइलें लेने से मना कर दिया है। इन फाइलों में अरविंद केजरीवाल के बजट स्पीच से जुड़ी फाइल भी थी।' सरकार ने दावा किया है कि इन फाइलों में मोहल्ला क्लीनिक और पॉलीक्लीनिक की स्थापना की जवाबदेही तय करने से जुड़ी हुईं थीं। सरकार का ये भी कहना है कि फाइलें लौटा देने से बजट सेशन पर इसका असर पड़ेगा। हालांकि सरकार ने अपने बयान में ये भी कहा है कि 'चीफ सेक्रेटरी के ऑफिस की तरफ से कहा गया है कि रविवार होने के कारण, इन फाइलों को सोमवार को चीफ सेक्रेटरी के ऑफिस में भेजा जाए।'

 



फाइलें जब भेजी, तब CS घर पर नहीं थे

वहीं ज्वॉइंट फोरम ऑफिसर्स का इन आरोपों पर कहना है कि 'सीएम ऑफिस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी नहीं दी गई थी, कि चीफ सेक्रेटरी को रविवार को फाइलें भेजी जाएंगी।' फोरम का कहना है कि 'जब दिल्ली सरकार ने फाइलें पहुंचाई, उस वक्त चीफ सेक्रेटरी घर पर नहीं थे क्योंकि रविवार को छुट्टी होती है।'

कैसे शुरू हुई सरकार और चीफ सेक्रेटरी में तकरार

दरअसल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 19 फरवरी की रात को सीएम हाउस में एक मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में आप विधायकों के साथ-साथ चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश भी शामिल हुए थे। इस दौरान आप के दो विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी के साथ बदसलूकी की। चीफ सेक्रेटरी को थप्पड़ मारा, धक्का-मुक्की की और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया। इतना ही नहीं, आप विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी की कॉलर पकड़ी और उन्हें धक्का भी दिया। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल भी वहां मौजूद थे और ये सब सीएम हाउस में ही हुआ। इस केस में आप विधायक अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार किया गया है।