दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली : 7वीं पास अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर गिरफ्तार, हथियार जब्त

January 3rd, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली : 7वीं पास अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर गिरफ्तार, हथियार जब्त

नई दिल्ली, 3 जनवरी (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी पुलिस की स्पेशल सेल ने देश में पहले अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। गिरोह का सरगना गिरफ्तार कर लिया गया है। हथियार तस्कर से 20 पिस्तौल और 50 जीवित कारतूस जब्त किए गए हैं।

यह जानकारी शुक्रवार को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के उपायुक्त (डीसीपी) प्रमोद कुमार सिंह कुशवाह ने आईएएनएस को दी। डीसीपी के मुताबिक, इस खतरनाक गिरोह के पीछे स्पेशल सेल के दो सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) ललित मोहन नेगी, हृदय भूषण के नेतृत्व वाली दो टीमें महीनों से देशभर की खाक छान रही थीं। पीछा करते-करते स्पेशल सेल की टीम में शामिल इंस्पेक्टर संजय गुप्ता व राजेश कुमार को राजस्थान के भरतपुर इलाके से बड़ी तादाद में इन हथियारों की तस्करी के बाबत पुख्ता जानकारी मिल गई।

इसके बाद ऑपरेशन को अंजाम तक पहुंचाने के लिए दो सब-इंस्पेक्टर अरुण दहिया, अजय स्वामी के साथ सिपाही सुनील, नवीन व देवेंद्र की टीमें हथियार तस्कर के पीछे लगा दी गईं। गुप्त सूचनाएं शत-प्रतिशत सही साबित होते ही स्पेशल सेल की टीमों ने नई दिल्ली जिले में स्थित तालकटोरा पार्क गोलचक्कर के पास घेराबंदी कर दी। गिरफ्तार शख्स ने अपना नाम साजिद (20) निवासी भरतपुर, राजस्थान बताया।

स्पेशल सेल की टीम ने जब गहराई से पूछताछ की, तो आरोपी ने 20 पिस्तौल और 50 जीवित कारतूस भी जब्त करा दिया। डीसीपी प्रमोद कुमार सिंह कुशवाह के मुताबिक, साजिद के पास से 10 अवैध सेमी-ऑटोमैटिक प्वाइंट-32 बोर की पिस्तौल और 10 प्वाइंट-315 बोर की सिंगल-शॉट अवैध पिस्तौल बरामद हुईं। इसके साथ ही साजिद ने पुलिस टीम को दोनों ही हथियारों के 50 जीवित कारतूस भी बरामद कराए।

पूछताछ में पुलिस टीमों को पता चला कि हिंदुस्तान के तमाम राज्यों की पुलिस की नींद उड़ाने वाला साजिद सिर्फ सातवीं जमात ही पास है। पढ़ाई छोड़ने के बाद उसने कुछ समय तक ट्रक ड्राइवरी की। उसके बाद कुछ वक्त उसने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-47 (लेबाड बाइपास, धार) पर एक ढावा भी चलाया। हर काम में वो असफल रहा।

जब साजिद ड्राइवरी करता था, उसी दौरान उसकी एक हथियार तस्कर से भेंट हुई थी। जब साजिद दुबारा उसके संपर्क में पहुंचा तो वह हथियार तस्करी से भारी-भरकम आमदनी करने लगा। साजिद मध्य प्रदेश, मेवात, दिल्ली में अवैध हथियारों का बड़ा तस्कर बन गया।

पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में साजिद ने कबूला, देश के कई इलाकों से एक पिस्तौल वह मात्र 2 या तीन हजार रुपये में खरीद लाता था। उसके बाद देश राजधानी दिल्ली, यूपी, राजस्थान सहित तमाम इलाकों में वही 2-3 हजार वाली अवैध पिस्तौल 20 से 25 हजार रुपये में बेच देता था। इसमें साजिद को कई गुना मुनाफा बिना कुछ करे-धरे हो रहा था। साजिद ने कई और हथियार तस्कर गिरोह के बारे में भी पुलिस को बताया है। पुलिस उनकी तलाश में भी छापेमारी कर रही है।