comScore

दिल्ली : अब विधानसभा अध्यक्ष के सचिव लुटे, आम-ओ-खास सब निशाने पर

October 18th, 2019 20:30 IST
 दिल्ली : अब विधानसभा अध्यक्ष के सचिव लुटे, आम-ओ-खास सब निशाने पर

हाईलाइट

  • दिल्ली : अब विधानसभा अध्यक्ष के सचिव लुटे, आम-ओ-खास सब निशाने पर

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी में चंद दिन पहले प्रधानमंत्री की भतीजी को लूट लिया गया। उसके बाद मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट लुट गए। इन वीवीआईपी वारदातों का खुलासा करके दिल्ली पुलिस अभी सांस ले ही रही थी कि दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष के सचिव को बेखौफ बदमाशों ने सर-ए-बाजार लूट लिया। एक के बाद एक हो रही लूट-झपटमारी की इन तमाम वारदातों से साफ है कि देश की राजधानी दिल्ली में पुलिस से ज्यादा कामकाज चोर-उचक्के और झपटमार कर रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक, अजय रावल दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल के सचिव दानिप्स सेवा के अधिकारी और पटेल नगर के पूर्व एसडीएम हैं। अजय रावल सपरिवार बाहरी दिल्ली जिले के पश्चिम विहार स्थित अंबिका विहार में रहते हैं।

पश्चिम विहार वेस्ट थाने में 17 अक्टूबर को दर्ज एफआईआर के मुताबिक, अजय रावल पत्नी के साथ करवा चौथ वाली रात गुरुवार को घर से बाहर निकले थे। दंपति अभी घर से कुछ दूर पैदल चलकर पहुंचे थे कि उन्हें मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने घेर लिया।

एफआईआर के मुताबिक, जब तक अजय रावल और उनकी पत्नी बदमाशों की मंशा भांप पाते, उन्होंने दंपत्ति पर झपट्टा मार दिया। बदमाश दंपति के हाथ में मौजूद कीमती मोबाइल लूट कर भाग गए। अजय रावल ने बदमाशों का पीछा भी करने की सोची, लेकिन नाकाम रहे।

घटना रात करीब आठ बजे के आसपास की बताई जाती है। जिस स्थान पर वारदात हुई, वहां काफी लोगों की आवाजाही थी। करवा चौथ का त्योहार होने के बाद भी कथित तौर पर आसपास कहीं कोई पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था।

उल्लेखनीय है कि चंद दिन में देश की राजधानी में झपटमारी की यह तीसरी वीवीआईपी वारदात है। सबसे पहले उत्तरी दिल्ली के सिविल लाइंस जैसे वीवीआईपी इलाके में सुबह-सुबह लुटेरों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी (भाई की बेटी) दमयंती बेन मोदी को शिकार बनाया था। गुजराती समाज भवन के सामने इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया था। इस मामले से दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से लेकर उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) मोनिका भारद्वाज तक की कुर्सी पर आंच आ सकती थी। लिहाजा 24 घंटे के ही भीतर मामले का पदार्फाश हो गया। लुटेरे पकड़ लिए गए। माल-नकदी-मोबाइल सब बरामद हो गया।

इस मामले को सुलझा कर खुद की पीठ थपथपा रही उत्तरी जिला पुलिस की खुशी मगर ज्यादा वक्त बरकरार नहीं रही। दो-चार दिन बाद ही कमला नगर (रूप नगर) इलाके में लुटेरों ने रात के वक्त तीस हजारी अदालत के एक मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट को निशाने पर ले लिया। रात का खाना खाने के बाद घर के बाहर टहल रहे एमएम साहब से स्कूटी सवार दो झपटमार उनका कीमती आईफोन छीन ले गए।

मामला चूंकि मजिस्ट्रेट के लुटने का था, इसलिए दिल्ली पुलिस के आला-अफसरान ने दो तीन जिलों की पुलिस टीमें इस मामले के खुलासे के लिए झोंक दी। घंटों में ही मोबाइल बरामद कर मजिस्ट्रेट को सौंप दिया गया। दोनों झपटमार भी पकड़ लिए।

लेकिन यहीं पर, रोहिणी जिले के प्रशांत विहार इलाके में सुबह-सुबह करीब 2-3 लाख रुपये कीमत की सोने की चेन लूटे जाने की घटना का खुलासा रोहिणी जिला पुलिस आज तक नहीं कर पाई। पीड़िता ज्योति राठी दिल्ली राज्य बाल संरक्षण आयोग की सदस्य हैं।

ज्योति राठी ने आईएएनएस को घटना के बाद बताया था, प्रशांत विहार थाने के सहायक उप-निरीक्षक सखा राम ने उनके साथ ही झपटमारी की घटना को चोरी में दर्ज कर डाला।

हालांकि रोहिणी जिले के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) शंखधर मिश्रा (एस.डी.मिश्रा) के अनुसार, ऐसा करने वाले प्रशांत विहार थाने के लापरवाह सहायक-उप-निरीक्षक सखा राम को निलंबित कर दिया गया है।

-- आईएएनएस

कमेंट करें
OZoT0