खरी-खोटी: दिग्विजय सिंह ने गौतम गंभीर को पढ़ाया नैतिकता का पाठ, यूजर्स बोले- क्रिकेट पर ना दें ज्ञान

November 12th, 2021

हाईलाइट

  • दिग्विजय का ट्वीट उन्हीं पर भारी पड़ा
  • यूजर्स ने सिंह को सुनाई खरी खोटी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह अपनी बयानबाजी को लेकर हमेशा से ही चर्चाओं में रहते हैं। फिलहाल वे, पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को दिए क्रिकेट ज्ञान के चलते चर्चा में हैं। दरअसल, टी-20 विश्वकप में गुरुवार को हुए ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच मुकाबले के बाद दिग्विजय सिंह ने गौतम गंभीर को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर क्रिकेट में नैतिकता का पाठ पढ़ाने की कोशिश की। 

लेकिन दिग्विजय का यह ट्वीट उन पर ही भारी पड़ता नजर आ रहा है। उनके इस बर्ताव पर ट्विटर यूजर्स भड़क गए और उन्होंने दिग्विजय इस पर खरी खोटी सुना डालीं। यूजर्स ने सिंह को गंभीर के ट्वीट का मतलब भी समझाया। बता दें कि, गौतम गंभीर अब भाजपा से सांसद हैं।

SC में सरकार की दलील दुश्मनों से निपटने के लिए हर मौसम, हर स्थिति में सतर्क रहना होगा

क्या है पूरा मामला
टी20 वर्ल्‍ड कप से में पाकिस्‍तान को ऑस्‍ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा है। मैच के दौरान पाकिस्‍तानी गेंदबाज मोहम्‍मद हफीज की एक गेंद उनके हाथ से छूट गई। गेंद दो बार टप्‍पा खाई जिस पर वार्नर ने पीछे हटते हुए छक्‍का जड़ दिया। वहीं अंपायर ने नियमानुसार गेंद को नो-बॉल करार दिया। 

कमेंटेटर और पूर्व पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने वार्नर की इस हरकत को 'शर्मनाक' और 'खेल भावना के खिलाफ' बताया। गंभीर ने एक ट्वीट में भारतीय स्पिनर आर अश्विन को टैग कर अपने मन की बात कही। लेकिन इस बात का दिग्विजय सिंह को इतना बुरा लगा कि उन्होंने गौतम गंभीर को खरी-खोटी सुना डाली। 

नवाब मलिक ने कहा- कंगना रनौत ने किया ड्रग का सेवन, वापस लिया जाए पद्मश्री पुरस्कार

सिंह ने ट्वीट पर किया सवाल
दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए गौतम गंभीर से पूछा कि गौतम गंभीर जी, आपने गेंदबाज के हाथ से फिसली गेंद पर छक्‍का जड़ने के लिए वार्नर की नैतिकता पर सवाल उठाए थे। बिना रिव्‍यू लिए उनके वॉक-ऑफ कर जाने पर आपको क्‍या कहना है?

यूजर्स ने लगाई सिंह को लताड़
सिंह के इस ट्वीट के बाद यूजर्स ने जमकर लताड़ लगाई है। एक यूजर ने लिखा, राजनीति में ही रहिए, क्रिकेट पर ज्ञान मत दीजिए। वहीं अन्य यूजर ने दिग्विजय को समझाते हुए लिखा, अश्विन ने जब माकडिंग की थी तब ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर्स बहुत ज्ञान दे रहे थे, इसलिए गंभीर ने बोला। वहीं कई यूजर्स ने कहा कि रिव्‍यू न लेना, वार्नर की बेवकूफी थी... इसका खेल भावना से कोई लेना-देना नहीं है।