दैनिक भास्कर हिंदी: EU सांसदों ने कहा- शांति बहाल करने के लिए हम भारत के प्रयासों का समर्थन करते हैं

October 30th, 2019

हाईलाइट

  • EU सांसदों के प्रतिनिधिमंडल का कश्मीर दौरा खत्म
  • आतंक के खिलाफ भारत की लड़ाई की प्रतिनिधिमंडल ने सराहना की
  • आतंकवाद को बताया कश्मीर की समस्या का कारण

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू और कश्मीर के दौरे पर आए यूरोपीय संघ (EU) के सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश में आतंक को खत्म करने और शांति बहाल करने के लिए भारत के प्रयासों का समर्थन किया है। श्रीनगर में अपने दौरे के अंत में मीडिया से बातचीत करते हुए EU सांसदों ने कहा कि 'हम अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल पूरी तरह से राज्य में आतंक को खत्म करने और शांति बहाल करने के लिए भारत के प्रयासों का समर्थन करते हैं।' साथ ही उन्होंने यह भी माना कि कश्मीर में समस्या आतंकवाद से जुड़ी हुई है।

केंद्र द्वारा अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद पहली बार किसी अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल ने घाटी का दौरा किया है। EU सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के एक सदस्य ने कहा कि 'कश्मीर में आतंकवाद केवल भारत की समस्या नहीं है। मुझे लगता है कि यह अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की भी समस्या है। हम सबसे अच्छा समाधान खोजने के लिए भारत का समर्थन करते हैं।'

स्थानीय लोगों से बातचीत के सवाल में ईयू के सांसदों ने कहा कि 'स्थानीय लोगों ने हमें बताया कि वे भारतीय नागरिक हैं और हम सभी भारतीय नागरिकों की तरह भारतीय बनना चाहते हैं। हम देश के अन्य क्षेत्रों की तरह यहां भी विकास चाहते हैं।' EU सांसदों ने यह भी कहा कि 'हम यहां भारत की राजनीति में दखल करने के लिए नहीं आए हैं। उन्होंने बताया कि जो लोग इस बात को लेकर आलोचना कर रहे हैं, उन्हें संसदीय प्रतिनिधिमंडलों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इस तरह के प्रतिनिधिमंडलों का उद्देश्य सूचना और तथ्य एकत्र करना होता है।