दैनिक भास्कर हिंदी: कश्मीर पर सरकार करेगी फिर बातचीत, पूर्व IB चीफ को दिया जिम्मा

October 24th, 2017

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर पर आज केंद्र सरकार ने एक बड़ा एलान किया है। केंद्र और राज्य सरकारें जम्मू कश्मीर के सभी पक्षों से बातचीत के लिए तैयार हो गई है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में सरकार बातचीत शुरू करेगी। इसके लिए पूर्व आईबी चीफ दिनेश्वर शर्मा को प्रतिनिधि नियुक्त किया गया है। गृहमंत्री ने कहा कि 'जम्मू कश्मीर के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों संजीदा हैं। बता दें कि सात साल बाद इस मसले पर बातचीत की कोशिश शुरू हो रही है। वार्ता के ऐलान का जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने स्वागत किया है। वहीं पूर्व सीएम फारूक ने कहा कि ये एक राजनीतिक समस्या है। 

 

पीएम मोदी के बयान से साफ पता चलता है कि सरकार इस समस्या के प्रति कितना गंभीर है। मैं लगातार राज्य के दौरे कर रहा हूं।' उन्होंने कहा कि दिनेश्वर शर्मा सभी पक्षों से बातचीत करेंगे और अपनी रिपोर्ट केंद्र और सरकार को देंगे। बता दें कि दिनेश्वर शर्मा को कैबिनेट सेक्रेटरी का स्टेटस होगा। दिनेश्वर शर्मा को किसी से भी बातचीत के लिए पूरी आजादी होगी। पीएम मोदी पहले ही कह चुके हैं कि कश्मीर की समस्या का समाधान न गोली और गाली से होगा, बल्कि कश्मीरियों को गले लगाने से होगा।

 

वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सवालों को जवाब देते हुए कहा कि क्या चीफ रिप्रजेंटेटिव हुर्रियत नेताओं से भी सीधी बातचीत करेंगे, इस पर उन्होंने कहा कि दिनेश्वर शर्मा को पूरी छूट है। बता दें कि घाटी में पिछले कुछ समय से ऑपरेशन ऑलआउट के जरिए आतंकवादियों की गतिविधियों में कमी आई है। जो लोग आतंकियों के खिलाफ आवाज उठाने से डर रहे थे और अब सरकार की पहल का साथ देने की तैयारी में हैं।

 

राजनाथ सिंह ने बताया कि पीएम मोदी भी इसी के पक्ष में थे और उन्होंने स्वतंत्रता दिवस पर लालकिले पर कहा था कि कश्मीर समस्या का हल इंसानियत और जम्हूरियत के जरिए ही निकाला जा सकता है। सात सालों से लगातार बातचीत के जरिए मामला सुलझाने की मांग उठ रही थी, जिसे देखते हुए केंद्र सरकार ने भी बातचीत की दिशा में आगे बढ़ने का फैसला किया है।