comScore

Health Update: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

Health Update: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

हाईलाइट

  • प्रणब मुखर्जी की स्थिति में कोई सुधार नहीं, हालत नाजुक बनी हुई है
  • सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में अब भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर ही हैं

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) की हालत स्थिर बनी हुई है। दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल (Army Research & Referral Hospital) की ओर से गुरुवार को जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, प्रणब मुखर्जी की तबीयत में कोई बदलाव नहीं हुआ है। उनकी हालत स्थिर है। अब भी उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर ही रखा गया है। गौरतलब है कि, ब्रेन सर्जरी के बाद से प्रणब मुखर्जी की हालत गंभीर बनी हुई है। सर्जरी से पहले मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव भी पाए गए थे। 

रेफरल अस्पताल ने अपने ताजा बयान में कहा, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में लगातार तीसरे दिन कोई सुधार देखने को नहीं मिला है। उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।

इसी बीच सोशल मीडिया पर चल रही पूर्व राष्ट्रपति के मौत की अपवाह पर नाराजगी जताते हुए मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर कहा, मेरे पिता अभी भी जीवित हैं। सोशल मीडिया पर फेक न्यूज चलायी जा रही है। प्रतिष्ठित पत्रकारों द्वारा सोशल मीडिया पर प्रसारित की जा रही अटकलों और फर्जी खबरों से जाहिर होता है भारत में मीडिया फेक न्यूज का कारखाना बन गया है।

वहीं प्रणब मुखर्जी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी अफवाहों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए ट्वीट कर कहा, मेरे पिता की सेहत के बारे में सोशल मीडिया पर चल रही खबरे झूठी हैं। मीडिया से अनुरोध है कि, मुझे कॉल न करें क्योंकि मुझे अस्पताल से किसी भी अपडेट के लिए अपने फोन को फ्री रखने की आवश्यकता है।

गौरतलब है कि, पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी सोमवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। 10 अगस्त को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 84 वर्षीय प्रणब मुखर्जी को सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल भर्ती कराया गया। बाद में जांच में खुलासा हुआ, उनके मस्तिष्क में एक बड़ा खून का थक्का जम गया है। जिसकी वजह से उनका जीवन बचाने के लिए ब्रेन सर्जरी की गई। लाइफ सेविंग सर्जरी के बाद से मुखर्जी की हालत गंभीर बनी हुई थी। आपातकालीन सर्जरी के बाद से वह वेंटिलेटरी सपोर्ट पर हैं।

गौरतलब है कि, कोरोना संक्रमित होने की जानकारी प्रणब मुखर्जी ने खुद ट्वीट कर दी थी। उन्होंने कहा था, इस बार अस्पताल की यात्रा एक अलग प्रक्रिया के लिए, मैं कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया हूं। मुखर्जी ने यह अपील भी की थी कि, पिछले एक हफ्ते में जो भी लोग मेरे संपर्क में आए हैं, वो सभी टेस्ट करवा लें और सेल्फ आइसोलेट हो जाएं। बता दें कि, प्रणब मुखर्जी ने 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति का पद संभाला। 2019 में केंद्र सरकार की ओर से प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

कमेंट करें
dsGc8