comScore

पेट्रोल-डीजल के दामों में आसमानी उछाल, जल्द ही 90 रुपए लीटर हो सकता है पेट्रोल

September 07th, 2018 12:55 IST

हाईलाइट

  • दिन ब दिन ईंधन के दामों में बढ़ोतरी होती जा रही है।
  • विपक्ष के विरोध के बावजूद सरकार दाम कम नहीं कर रही है।
  • पेट्रोल के दाम में 48 पैसै तो डीजल के दाम में 52 पैसे की बढ़ोतरी।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल में लगातार हो रही बढ़ोतरी ने लोगों को चिंता में डाल दिया है। दिन ब दिन ईंधन के दामों में वृद्धि हो रही है। विपक्ष के विरोध के बावजूद सरकार दाम कम करने को लेकर कोई कदम नहीं उठा रही है। शुक्रवार को फिर एक बार पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई। इस बढ़ोतरी के साथ अब नई दिल्ली में पेट्रोल 79.99 रुपए प्रति लीटर हो चुका है, वहीं डीजल 72.09 रुपए प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गया है। पेट्रोल के दाम में 48 पैसे तो डीजल के दाम में 52 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। मुंबई में पेट्रोल 87.39 रुपए लीटर तो डीजल 76.51 रुपए प्रति लीटर हो गया है।

विपक्ष के निशाने पर सरकार 
विपक्ष पेट्रोल और डीजल के दामों का लेकर लगातार सरकार को घेर रहा है, साथ ही विपक्षी दल पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के अंतरगत लाने की मांग भी लंबे समय से कर रहे हैं। वहीं पेट्रोल और डीजल के आसमान छूते दामों को लेकर लोगों में आक्रोश है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और एनडीए के पूर्व सहयोगी एन चंद्रबाबू नायडू ने तेल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर हाल ही में अपने एक बयान में कहा थी कि जल्द ही देश में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर होगी।

पेट्रोल-डीजल के बढ़ रहे दामों पर अंकुश लगाने में सरकार नाकाम रही है, लगातार महंगे हो रहे भी पेट्रोल-डीजल के कारण माल ढुलाई भाड़ा भी बढ़ गया है। इसके चलते देशभर में फल सब्जी से लेकर रोजमर्रा की जरूरतों के सामान भी महंगे हो रहे हैं। आम लोगो को इसके चलते महंगे पेट्रोल के साथ रोजमर्रा की जरूरतों के सामान के भी अधिक दाम देने पड़ रहे हैं। 

कमेंट करें
MB9zv
कमेंट पढ़े
Hemant Mehta September 15th, 2018 09:42 IST

कड़वे सच सरकार ने तो अपने हाथ ऊपर उठा दिए हैं वह तो हमारे लिए कुछ करने से रहे अब हमें ही अपनी गाड़ी स्कूटर का उपयोग करना बंद कर किलो के भाव बेचना होगा अपने कार स्कूटर को या फिर आय बढ़ाने के दूसरे रास्ते शुरु करने होंगे नेताओं और मंत्रियों की तरह दान स्वीकार करना होगा । ताकि हमारे हमारा घर परिवार का खर्च आराम से चल सके।