दैनिक भास्कर हिंदी: शेहला ने लगाया गडकरी-संघ पर मोदी की हत्या की साजिश का आरोप, बाद में लिया यू-टर्न

June 10th, 2018

हाईलाइट

  • नितिन गडकरी व संघ पर लगाया हत्या की साजिश का आरोप
  • केंद्रीय मंत्री ने कहा असामाजिक तत्वों के खिलाफ करेंगे कार्रवाई
  • विवाद बढ़ने पर शेहला रशीद ने लिया यू-टर्न, ट्वीट को बताया मजाक

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश के मामले पर वामपंथी ऐक्टिविस्ट और जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के ट्वीट से विवाद खड़ा हो गया है। जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर प्रधानमंत्री मोदी की हत्या की साजिश रचने में शामिल होने का आरोप लगाया है। शेहला रशीद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह नितिन गडकरी और आरएसएस मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं। इनको देखो, उसके बाद मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ और फिर मुस्लिमों की सामूहिक हत्याएं करो। 


गडकरी ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी 
शेहला के इस ट्वीट के बाद सनसनी फैल गई। कुछ ही देर बाद इस ट्वीट पर नितिन गडकरी ने आपत्ति जताते हुए मामले में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है। गडकरी ने शेहला का नाम लिए बिना ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं, जिन्होंने मुझ पर पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है। 


पत्र से हुआ था हत्या की साजिश का खुलासा 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले 8 जून को महाराष्ट्र के पुणे से हुई पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद एक चौंकाने वाली बात सामने आई थी। इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को एक आरोपी के घर से एक चिट्ठी मिली थी, जिसमें राजीव गांधी की हत्या जैसी योजना का जिक्र किया गया था। इस चिट्ठी में लिखा था, "मोदी राज में बीजेपी 15 राज्यों में अपनी सरकार बनाने में सफल हो गई है। यदि ऐसा ही वह बढ़ते रहे तो सभी मोर्चों पर पार्टी के लिए दिक्कत खड़ी हो सकती है। 

रोड शो में बनाई थी मारने की योजना 
कॉमरेड किशन और कुछ दूसरे वरिष्ठ कॉमरेड्स ने मोदी राज को खत्म करने के लिए कुछ मजबूत कदम भी सुझाए हैं। हम सभी राजीव गांधी जैसे हत्याकांड पर विचार कर रहे हैं। यह आत्मघाती जैसा अभी प्रतीत हो रहा है और इस बात की भी अधिक संभावनाएं हैं कि हम अपने इस प्रयास में असफल हो जाएं, लेकिन हमें लगता है कि पार्टी हमारे प्रस्ताव पर विचार करे। उन्हें रोड शो में टारगेट करना एक असरदार रणनीति हो सकती है। हमें लगता है कि पार्टी का अस्तित्व किसी भी त्याग से ऊपर है। बाकी अगले पत्र में। 

विवाद के बाद बयान से पलटी शेहला
नितिन गडकरी की चेतावनी के बाद जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद बैकफुट पर आ गई हैं। उन्होंने गडकरी पर पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने वाले बयान से पीछे हटते हुए इसे एक मजाक बताया। नितिन गडकरी के एक्शन लेने वाले ट्वीट को रिट्वीट करते हुए शेहला ने लिखा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी मजाकिया ट्वीट पर एक्शन ले रही है।