comScore

बयान: सत्यपाल मलिक बोले-गोल्फ खेलना और दारु पीना है कश्मीर के राज्यपाल का काम

बयान: सत्यपाल मलिक बोले-गोल्फ खेलना और दारु पीना है कश्मीर के राज्यपाल का काम

हाईलाइट

  • राज्यपाल के पास कोई काम नहीं होता- सत्यपाल मलिक
  • अक्सर शराब पीता है कश्मीर का राज्यपाल- मलिक
  • राज्यपाल आराम से रहते हैं, किसी के झगड़े में नहीं पड़ते- सत्यपाल मलिक

डिजिटल डेस्क, बागपत। गोवा के गवर्नर सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने एक विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि गवर्नर (Governor) के पास कोई काम नहीं होता है। कश्मीर में जो गवर्नर होता है अक्सर वो दारू पीता है और गोल्फ खेलता है। मलिक ने यह बात उत्तरप्रदेश के बागपत दौरे पर कहीं। यहां एक सभा को संबोधित करते उन्होंने कहा, राज्यपाल आराम से रहते हैं। वे किसी झगड़े में नहीं पड़ते हैं। 

उन्होंने कहा कि जब मुझे बिहार का राज्यपाल बनाया, मैंने सोचा कि वहां की शिक्षा व्यवस्था में सुधार करूं। राज्य में कई कॉलेज राजनेताओं के थे। उनके यहां शिक्षक तक नहीं थे। हर साल छात्र बीएड में एडमिशन लेते हैं और पैसे देकर एग्जाम और डिग्रियां बांटते थे। मैंने सारे कॉलेज बंद करवाकर एक सेंट्रलाइज्ड परीक्षा करवाई। 

जम्मू-कश्मीर: उपराज्यपाल के सलाहकार फारूक खान का दावा- एक समय 100 फीसदी हिंदू राज्य था कश्मीर

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रहे सत्यपाल मलिक
बता दें जब केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने का फैसला किया। उस समय सत्यपाल मलिक वहां के राज्यपाल थे। उनके कार्यकाल में जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटा गया। 
 

कमेंट करें
GkVMv