दैनिक भास्कर हिंदी: UP-बिहार में बाढ़ से हालात बेकाबू, 100 से ज्यादा मौत, 9 जिलों में ऑरेंज अलर्ट

September 30th, 2019

हाईलाइट

  • उत्तर प्रदेश -बिहार में भारी बारिश से आई बाढ़
  • उत्तर प्रदेश-बिहार में अब तक 100 ज्यादा लोगों की मौत
  • पटना की सड़कों पर चली नाव

डिजिटल डेस्क, पटना। उत्तर प्रदेश-बिहार राज्य में बारिश ने विकराल रुप ले लिया है। आसमान से आफत कम होने का नाम नहीं ले रही है।लगातार जारी भारी बारिश की वजह से यूपी-बिहार के कई जिलों में बाढ़ आ गई है। जगह-जगह जलभराव हो गया। पटना समेत कई बड़े शहारों की सड़कें पर नाव चल रही हैं। दोनों राज्यों में बाढ़ के कारण 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं। बिहार में अभी तक 23 तो वहीं उत्तर प्रदेश में 107 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। प्रशासनिक स्तर पर राहत-बचाव का काम किया जा रहा है। बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए सेना की मदद ली जा रही है। 

बिहार की नीतीश सरकार ने बाढ़ में फंसे लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से दो हेलिकॉप्टरों की मांग की है, इसके अलावा कोल इंडिया से जल जमाव को निकालने के लिए पंप की मांग की गई है। पटना के कुछ इलाकों में निवासियों को बचाने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें लगी हुई हैं। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य की राजधानी में शुक्रवार शाम से 200 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है, जिसे आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने ‘पूरी तरह से अप्रत्याशित’ बताया। 

बिहार में दो दिन के भीतर 29 लोगों की मौत

इन जिलों में मंडरा रहा है खतरा (रेड अलर्ट जारी)
मौसम विभाग के मुताबिक बिहार के 14 जिले ऐसे हैं जहां भारी से भी भारी बारिश हो सकती है। बिहार के 14 जिलों में आज बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। जिन जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया, उनमें सुपौल, अररिया, किशनगंज, बांका, समस्तीपुर, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, दरभंगा, भागलपुर, खगड़िया, कटिहार, वैशाली और मुंगेर शामिल है। 

नेताओं के घरों में भी घुसा पानी (येलो अलर्ट जारी)
बिहार में भारी बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने पटना, गोपालगंज, शेखपुरा, चंपारण, सीवान समेत बिहार के कई जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। पटना में मंगलवार तक सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है, साथ ही 12 ट्रेनें भी रद्द कर दी गई हैं। सिर्फ आम आदमी नहीं बल्कि नेताओं के घर भी इन दिनों किसी टापू की तरह लग रहे हैं, फिर चाहे उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी हो, राजीव प्रताप रूडी या फिर नंद किशोर यादव का घर हो। 

यूपी-बिहार में 100 से ज्यादा लोगों की मौत
उत्तर प्रदेश और बिहार में मौसम कहर बरपा रहा है। सितंबर के आखिर में आसमान से आफत कुछ इस तरह बरसी है कि जगह-जगह पानी-पानी हो गया। सड़कें तो मानो नहर बन गई हो लोगों को शहर में भी नाव पर घूमना पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश-बिहार में बाढ़ के कारण 100 लोगों से अधिक की मौत हो गई है. बिहार में अभी तक 23 तो वहीं उत्तर प्रदेश में 107 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिलाधिकारियों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के बाद संवाददाताओं से कहा, हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं. मैं राज्य के लोगों से धैर्य और हिम्मत रखने की अपील करता हूं। 

बिहार में अस्पताल से लेकर कपड़ों की शो-रुम तक पानी ही पानी 

 

बिहार के पटना शहर में बाढ़ में फंसा रिक्शे वाला रोते हुए बयां कर रहा है अपना दर्द 

 

 

बिहार में सड़कों पर चल रही हैं नाव

 

 

पटना की सड़को पर जलभराव  

 

 

बिहार के पटना शहर में बाढ़ का दृश्य