दैनिक भास्कर हिंदी: भारत ने खोला अपना एयरस्पेस, एयरफोर्स ने 27 फरवरी से लगाए थे प्रतिबंध

June 1st, 2019

हाईलाइट

  • इंडियन एयर स्पेस में 27 फरवरी से लगाए गए सभी अस्थायी प्रतिबंधों को हटा दिया गया है
  • एयरफोर्स ने शुक्रवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी
  • बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाक ने भी एयर स्पेस को प्रतिबंधित कर दिया था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंडियन एयर स्पेस में 27 फरवरी से लगाए गए सभी अस्थायी प्रतिबंधों को हटा दिया गया है। एयरफोर्स ने शुक्रवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि यह अनिवार्य रूप से भारत का जेस्चर है कि पाकिस्तान भी अपने एयर स्पेस को खोले। बता दें कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने पूर्वी सीमा पर एयर स्पेस को प्रतिबंधित कर दिया था।

पाकिस्तान के एयर स्पेस पर प्रतिबंध लगाए जाने के कारण भारतीय विमानों को दक्षिण एशिया और पश्चिमी देशों के लिए ज्यादा दूरी तय करनी पड़ रही है। इसमें समय भी ज्यादा लग रहा है। कई फ्लाइट्स का समय 3-3 घंटों तक बढ़ गया है। एक अधिकारी से जब पूछा गया कि भारतीय वायुसेना के ट्वीट का मतलब है कि लाहौर से काठमांडू जाने वाली पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन की फ्लाइट अब भारतीय एयर स्पेस को पार कर सकती है, तो अधिकारी ने कहा, 'तकनीकी रूप से हां। लेकिन ये आपसी समझौते के मामले हैं। हमने अपने तरफ से संकेत दे दिया है, लेकिन ऐसा करने के लिए पाकिस्तान को भी अपने ऐयरस्पेस को भारत सहित दूसरे देशों के एयरलाइन के लिए खोलना होगा।

इस हफ्ते की शुरुआत में, पाकिस्तान ने अपने एयरस्पेस को खोलने की तारीख को 14 जून तक बढ़ा दिया था। जबकि पहले इसे 30 मई तक खोले जाने की बात कही गई थी। 27 फरवरी से, जब प्रतिबंध लगाए गए थे, तो दिल्ली सहित दक्षिण एशिया के कुछ हिस्सों से टेकऑफ करने वाली फ्लाइट मुंबई और अहमदाबाद के करीब जा रही थी। इसके बाद ये फ्लाइट्स दाएं मुड़कर अरब सागर की ओर से मसकट और फिर अपने डेस्टिनेशन की तरफ जाती थी। इससे दिल्ली-दुबई और दिल्ली-यूरोप के लिए जाने वाली फ्लाइट्स को करीब 1.5 घंटे का ज्यादा समय लग रहा था।

दिल्ली और अमेरिका के पूर्वी तट के बीच एयर इंडिया की नॉन-स्टॉप फ्लाइट्स पर भी इसका असर पड़ रहा है। रास्ते में फ्यूलिंग स्टॉप का मतलब है कि फ्लाइंग टाइम में तीन घंटों से ज्यादा कि बढ़ोतरी होना। इंडिगो की दिल्ली-इस्तांबुल फ्लाइट को भी तुर्की जाने और वापस लौटने के दौरान फ्यूलिंग स्टॉप लगा पड़ रहा है।

पाकिस्तानी एयर स्पेस बैन का सबसे ज्यादा असर एयर इंडिया पर पड़ा है। एयर इंडिया को करीब 6 करोड़ रुपए के राजस्व का इस अतिरिक्त खर्च के कारण नुकसान हुआ। उत्तर अमेरिकी वाहकों ने इस अतिरिक्त खर्च से बचने के लिए दिल्ली की कुछ उड़ानों को सस्पेंड कर दिया है। पाकिस्तान के एयर स्पेस के लगातार बंद रहने के कारण 14 जून से 1 अगस्त के बीच एयर कनाडा अपनी दिल्ली-टोरंटो फ्लाइट का संचालन नहीं करेगा। यूनाइटेड की दिल्ली-न्यूआर्क उड़ान भी अप्रैल की शुरुआत से इसी कारण से सस्पेंड है और 2 जुलाई को फिर से शुरू होने की उम्मीद है।