दैनिक भास्कर हिंदी: मोदी-योगी सरकार में नहीं बना मंदिर तो जनता का भरोसा भाजपा से उठ जाएगा-रामदेव

November 28th, 2018

हाईलाइट

  • मंदिर निर्माण नहीं हुआ तो जनता का भरोसा भाजपा से उठ जाएगा-रामदेव
  • मंदिर निर्माण में देरी को लेकर सरकार से नाराज बाबा रामदेव
  • संतो ने सरकार को दिया अल्टीमेटम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र की मोदी और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मुरीद बाबा रामदेव के तेवर राम मंदिर निर्माण लेकर बदले हुए नजर आ रहे हैं। रामदेव ने कहा कि केंद्र और प्रदेश दोनों जगह भाजपा की सरकार है इसके बावजूद यदि राम मंदिर नहीं बनता है तो जनता का विश्वास भाजपा से उठ जाएगा। रामदेव ने कहा कि यदि बिना कोर्ट के आदेश के राम मंदिर आम जनता बनाती है तो इससे माहौल बिगड़ जाएगा इसलिए कानून लाकर राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करना चाहिए। 

राम आस्था के प्रतीक
उत्तरी हरिद्वार स्थित शदाणी दरबार के नवनिर्मित भवन के उद्घाटन समारोह के दौरान राम मंदिर पर अपनी बात रखते हुए रामदेव ने कहा कि भगवान राम भारतीय जनमानस की आस्था के प्रतीक हैं। राम मंदिर निर्माण का मसला देश की अस्मिता से जुड़ा है, इसमें विलंब से हिंदुओं का धैर्य जवाब दे रहा है, साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कार सेवक मंदिर निर्माण का काम शुरू करते हैं तो वह न्यायालय की अवमानना होगी, अध्यादेश ही एकमात्र रास्ता है।

सरकार को अल्टीमेटम
संतों के इस कार्यक्रम में सरकार को अल्टीमेटम देते हुए संतों ने कहा कि 6 दिसंबर के बाद अगर सुनवाई नहीं होती तो संत अयोध्या कूच करेंगे। अग्नि अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद महाराज ने भी साफ कर दिया है कि 6 दिसंबर तक यदि सरकार कोई निर्णय राम मंदिर निर्माण के लिए ले लेती है तो ठीक है नहीं तो देश का साधु संत कोई अंतिम निर्णय लेने के लिए मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार फैसला नहीं लेगी तो तमाम संत समाज कोई बड़ा निर्णय ले सकता है। स्वामी कैलाशानंद महाराज ने यही भी कहा कि 6 दिसंबर के बाद स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी भी राम मंदिर निर्माण को लेकर अनशन करने की बात केंद्र सरकार को बता चुके हैं।