दैनिक भास्कर हिंदी: हिंद महासागर में भारत-अमेरिका और जापान का युद्धाभ्यास आज से शुरू

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। हर साल होने वाले भारत-अमेरिका-जापान के बीच युद्धाभ्यास सोमवार से शुरू हो गया है। हिंद महासागर में हो रहे इस संयुक्त युद्धाभ्यास इस बार इसलिए भी खास है, क्योंकि पिछले कई दिनों से बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच काफी तनाव है। तीनों देशों के बीच ये अभ्यास 17 जुलाई तक चलेगा। 

ऑपरेशन 'मालाबार' दिया नाम
 
भारत-अमेरिका-जापान के बीच होने वाले इस युद्धाभ्यास को ऑपरेशन 'मालाबार' दिया गया है। इस अभ्यास में तीनों देशों की नौसेना हिस्सा लेंगी।  इस एक्सरसाइज में 20 जंगी जहाज, दर्जनों फाइटर जेट्स, 2 सबमरीन और टोही विमान शामिल होंगे।
 
चीन क्यों बौखलाया ?
 
तीनों देशों के बीच हो रहे इस साझा युद्धाभ्यास से चीन बौखला गया है। आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच काफी तनाव है। चीन की धमकियों का जवाब भारत भी उसी के अंदाज में दे रहा है, जिससे दोनों देशों के बीच तनातनी मची हुई है। अब जब भारत-अमेरिका और जापान की नौसेना के बीच साझा युद्धाभ्यास हो रहा है, तो जाहिर है कि चीन तो बौखलाएगा ही। 
 
भारत के बेड़े से INS विक्रमादित्य होगा शामिल
 
भारत की ओर से इस अभ्यास का सबसे बड़ा आकर्षण होगा एयरक्राफ्ट कैरियर आइएनएस विक्रमादित्य, 2013 में नेवी शामिल किए जाने के बाद मिग-29 फाइटर जेट्स से लैस आईएनएस विक्रमादित्य इस तरह के पूर्ण सैन्य अभ्यास में पहली बार शामिल हो रहा है। इसके अलावा INS सह्याद्रि, INS किर्च, INS शक्ति, INS सतपुड़ा, पी-8 आई, चेतक हेलीकॉप्टर शामिल है। 
 
अमेरिका से 'एक लाख टन' का एयरक्राफ्ट खास 
 
एक्सरसाइज में शामिल होने वाले अमेरिकी बेड़े की खासियत है 1 लाख टन वजनी एयरक्राफ्ट कैरियर यूएसएस निमित्ज, न्यूक्लियर पावर से चलने वाला USS निमित्ज FA-18 फाइटर जेट्स से लैस है। इसके साथ ही लॉस एंजेलेस क्लास न्यूक्लियर अटैक सबमरीन, गाइडेड मिसाइल क्रूजर USS प्रिंसटन, गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर USS हॉवर्ड, पी-8 ए एयरक्राफ्ट शामिल हो रहे हैं। 
 
जापान का कैरियर इजुमो भी आएगा इस बार
 
वहीं जापान के जंगी बेड़े पर नजर डाले तो 27 हजार टन वजनी हेलिकॉप्टर कैरियर इजुमो मलाबार अभ्यास में शामिल हो रहा है। इसमें एंटी सबमरीन जंग में एक्सपर्ट है, वहीं हेलीकॉप्टर कैरियर इजुमो, JS साजानामी भी एक्सरसाइज में शामिल होगा।