comScore

Coronavirus India: भारत में पिछले 24 घंटे में 44,879 नए केस सामने आए, 547 की मौत, कुल संख्या 87 लाख के पार पहुंची

Coronavirus India: भारत में पिछले 24 घंटे में 44,879 नए केस सामने आए, 547 की मौत, कुल संख्या 87 लाख के पार पहुंची

हाईलाइट

  • भारत में पिछले 24 घंटे में 44,879 नए केस सामने आए
  • 547 लोगों ने वायरस के संक्रमण से जान गंवा दी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटे में 44,879 नए केस सामने आए हैं। वहीं 547 लोगों ने वायरस के संक्रमण से जान गंवा दी। इसी के साथ देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 87 लाख 28 हजार हो गए हैं। अब तक एक लाख 28 हजार 668 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। कुल एक्टिव केस घटकर पांच लाख से भी कम पर आ गए हैं। पिछले 24 घंटे में एक्टिव केस की संख्या में 4747 की गिरावट आई है। देश में कोरोना को अब तक कुल 81 लाख 15 हजार लोग मात देकर ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 49,079 मरीज कोरोना से ठीक हुए। 

दिल्ली में कोरोना फुल स्पीड में
कोरोना से सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र बना हुआ है। वहीं दिल्ली में कोरोना मामलों की संख्या रोजाना रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। आलम ये है कि राजधानी में पहली बार 1 दिन में 100 से ज्यादा लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 7053 नए मामले सामने आए। इसी के साथ कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4,67,028 हो गई। पिछले 24 घंटे में 6462 मरीज ठीक हुए। अब तक कुल 4,16,580 मरीज ठीक हुए। पिछले 24 घंटे में 104 लोगों की मौत हुई। इसी के साथ मौत का आंकड़ा 7332 पहुंच गया है। एक्टिव मामलों की संख्या 43,116 है। इस बीच विशेषज्ञों का कहना है कि त्योहारों की वजह से बाजार की भीड़-भाड़ और ठहरा हुआ प्रदूषण दिल्ली में कोरोना के खतरे को और बढ़ा सकता है।

राज्यों में कोरोना की स्थिति:

#Name of State / UTActive Cases*Cured/Discharged/Migrated*Deaths**
TotalChange since yesterdayCumulativeChange since yesterdayCumulativeChange since yesterday
1Andaman and Nicobar Islands164428215 61
2Andhra Pradesh2085758 8220111777 6837
3Arunachal Pradesh144045 1421488 47
4Assam4799572 204079771 957
5Bihar576352 217594654 1167
6Chandigarh100244 1429764 244
7Chhattisgarh20061165 1851521962 252720 
8Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu213255 2 
9Delhi43116487 4165806462 7332104 
10Goa172885 43221192 656 
11Gujarat1232198 1688581175 3785
12Haryana18867754 1722652015 197919 
13Himachal Pradesh6165560 21607199 411
14Jammu and Kashmir557898 93824511 1566
15Jharkhand3668341 100908606 917
16Karnataka294891273 8149493368 1147421 
17Kerala77931607 4285296119 179625 
18Ladakh97141 615133 89
19Madhya Pradesh8672344 169260692 306510 
20Maharashtra855833435 16050647809 45682122 
21Manipur311565 17889191 207
22Meghalaya104583 936856 98
23Mizoram56816 273951 2 
24Nagaland78952 877689 50 
25Odisha10762292 2937411264 148314 
26Puducherry10713450169 607
27Punjab5439193 130018469 441223 
28Rajasthan17352359 1999431804 203213 
29Sikkim26427 401948 85
30Tamil Nadu18395260 7226862347 1144025 
31Telengana17094229 2371721222 1397
32Tripura116731 30314106 360
33Uttarakhand415695 61990539 1093
34Uttar Pradesh22949387 4751751859 730221 
35West Bengal32185651 3811494453 750654 
Total#4845474747 811558049079 128668547 
कमेंट करें
OR7t3
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।