दैनिक भास्कर हिंदी: एयरफोर्स का AN-32 एयरक्राफ्ट उड़ान भरने के बाद लापता, 8 क्रू सहित 13 लोग सवार

June 4th, 2019

हाईलाइट

  • भारतीय वायुसेना का एक AN-32 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट लापता हो गया
  • एयरक्राफ्ट ने मेचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए जोरहाट से उड़ान भरी थी
  • एयरक्राफ्ट में 8 क्रू मेंबर और 5 पैसेंजर सवार थे

डिजिटल डेस्क, ईटानगर। असम के जोरहाट से उड़ान भरने के बाद भारतीय वायुसेना का एक AN-32 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट लापता हो गया। इस एयरक्राफ्ट ने सोमवार दोपहर 12.24 पर उड़ान भरी थी जिसमें 13 लोग सवार थे। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लापता IAF AN-32 एयरक्राफ्ट को लेकर भारतीय वायुसेना के वाइस चीफ, एयर मार्शल राकेश सिंह भदौरिया से बात की है। सिंह ने बताया कि एयर मार्शल ने उन्हें विमान की तलाश करने के लिए भारतीय वायुसेना की ओर से उठाए गए कदमों से अवगत कराया। राजनाथ सिंह ने सभी यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की।

ये एयरक्राफ्ट अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए 8 क्रू मेंबर और 5 पैसेंजर को लेकर रवाना हुआ था। दोपहर 1 बजे के बाद से यह एयरक्राफ्ट ग्राउंड एजेंसीज के संपर्क में नहीं है। वायुसेना ने लापता विमान का पता लगाने के लिए एक सुखोई-30MKI, C-130 स्पेशल ऑपरेशंस एयरक्राफ्ट को सर्च मिशन पर तैनात किया है। मेचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले में मेचुका घाटी में स्थित है। यह मैकमोहन लाइन के पास भारत-चीन सीमा के सबसे नज़दीकी लैंडिंग ग्राउंड है।

एंटोनोव AN-32 एक ट्रैक्टिकल ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है जिसका उपयोग भारतीय वायुसेना करती है और 1984 से सेवा में है। AN-32 कई वर्षों से भारतीय वायुसेना के लिए भरोसेमंद वर्कहॉर्स रहा है और इसे बड़े पैमाने पर उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। बता दें कि 2016 में एक AN-32 एयरक्राफ्ट बंगाल की खाड़ी में गिर गया था। इस एयरक्राफ्ट में 29 लोग सवार थे। 

खबरें और भी हैं...