दैनिक भास्कर हिंदी: भारत में अब तक की 8 सबसे बड़ी भगदड़, इतने लोगों ने गंवाई थी जान

September 30th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुंबई में परेल-एलफिंस्टन स्टेशन पर भगदड़ मचने से अब तक लगभग 22 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि मुंबई में उस वक्त भारी मात्र में बारिश हो रही थी जिस वजह से वहां के लोग ब्रिज के नीचे आ गए और उसी वक्त किसी ने ये अफवाह फैला दी कि ब्रिज टूट गया है। ब्रिज टूटने की खबर को सुनते ही लोगों में भगदड़ मच गई। भारत में भगदड़ मचने का हादसा पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले भी कई दफा ऐसे हादसे हो चुका हैं, जिसमें कई लोगों ने अपनी जानें गंवाई हैं। आइए जानते हैं भारत में अब तक की सबसे बड़ी भगदड़...

  • 3 अगस्त, 2006 जगह- नैना देवी मंदिर

नैना देवी मंदिर में हुई भगदड़ हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा हादसा माना गया है। इस भगदड़ में 160 श्रद्धालु मारे गए और लगभग 400 से भी ज्यादा घायल हो गए थे।

  • 30 सितंबर, 2008 जगह- चामुंडा देवी मंदिर

राजस्थान में स्थित चामुंडा देवी के मंदिर में भगदड़ मचने से करीब 120 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी। ये भगदड़ नवरात्रि के त्योहार के दौरान मची थी।

  • 14 जनवरी, 2011 जगह- सबरीमाला मंदिर

केरल में स्थित मंदिर में भी भगदड़ मचने से 106 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। वहीं 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

  • 19 नवंबर, 2012 जगह- पटना

छठ पूजा के मौके पर पटना के अदालातगंज घात पर धक्का मुक्की होने की वजह से भगदड़ मचने से करीब 18 लोगो की मौत हो गई थी।

  • 10 फरवरी 2013 जगह- इलाहाबाद

इलाहबाद कुम्भ मेले के दौरान रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ में 36 लोग मारे गए और कम से कम 39 लोग घायल हो गए थे।

  • 13 अक्टूबर, 2013 जगह- रत्नगढ़ मंदिर

मध्यप्रदेश जिले के दातिया में स्थित रत्नगढ़ मंदिर के पास एक पुल पर भगदड़ मचने से 89 लोगों की मौत हो गई थी. और करीब 100 लोग घायल हो गए थे।

  • 27 अगस्त 2003 जगह- नासिक कुंभ

नासिक कुम्भ के मेले में भगदड़ मचने से 40 लोग मारे गए थे। जबकि 125 श्रद्धालु घायल भी हुए थे.

  • 10 अगस्त, 2015 जगह- बैद्यनाथ मंदिर

झारखंड में प्रसिद्ध मंदिर बाबा बैद्यनाथ धाम में भगदड़ मचने से 11 लोगों की मौत हो गई थी. जबकि 50 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।