दैनिक भास्कर हिंदी: International Yoga Day 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा- कोरोना काल में उम्मीद की किरण बना योग

June 21st, 2021

हाईलाइट

  • विश्व योग दिवस पर पीएम मोदी ने देश को किया संबोधित
  • कोरोना काल में उम्मीद की किरण बना योग - पीएम मोदी
  • कोरोना में योग आत्मबल का बड़ा साधन बना- पीएम मोदी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आज दुनिया भर में 7वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। उन्होंने कहा, आप सभी को सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। आज जब पूरा विश्व कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहा है तो योग उम्मीद की एक किरण भी बना हुआ है। देश को 'योग से सहयोग तक' का मंत्र देते हुए पीएम मोदी ने कहा, जब कोरोना के अदृश्य वायरस ने दुनिया में दस्तक दी थी, तब कोई भी देश, साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से, इसके लिए तैयार नहीं था। ऐसे समय में योग आत्मबल का बड़ा साधन बना।

पीएम मोदी ने कहा, योग ने लोगों ने भरोसा जताया कि हम इस बीमारी से लड़ सकते हैं। महान तमिल संत श्री तिरुवल्लुवर जी ने कहा कि अगर कोई बीमारी है तो उसकी जड़ तक जाओ, बीमारी की वजह क्या है वो पता करो, फिर उसका इलाज शुरू करो। योग यही रास्ता दिखाता है। भारत के ऋषियों ने, भारत ने जब भी स्वास्थ्य की बात की है, तो इसका मतलब केवल शारीरिक स्वास्थ्य नहीं रहा है। इसीलिए, योग में फिजिकल हेल्थ के साथ साथ मेंटल हेल्थ पर इतना जोर दिया गया है।

पीएम मोदी ने कहा, हमारे ऋषि मुनियों ने कहा था कि सुख-दुख में समान भाव रखें। उन्होंने संयम को योग का पैरामीटर बनाया था। आज जब पूरा विश्व कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहा है, तो योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है। आज वैश्विक महामारी ने इसे साबित कर दिखाया है। भारत समेत कितने ही देशों ने महामारी के बड़े संकट का सामना किया है।

पीएम मोदी ने कहा, जब भारत ने यूनाइटेड नेशंस में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था, तो उसके पीछे यही भावना थी कि ये योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो। आज इस दिशा में भारत ने UN,WHO के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। सबको साथ लेकर चलने वाली मानवता की इस योग यात्रा को हमें ऐसे ही अनवरत आगे बढ़ना है। कोई भी स्थान हो, कोई भी परिस्थिति हो, कोई भी आयु हो, हर एक के लिए योग के पास कोई न कोई समाधान जरूर है।

पीएम मोदी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने संबोधन में ऐलान किया कि अब M-Yoga ऐप को लॉन्च किया गया है, इसके जरिए दुनिया की अलग-अलग भाषाओं में योग को सिखाया जाएगा। भारत ने इस ऐप को विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर तैयार किया है।अब विश्व को, M-Yoga ऐप की शक्ति मिलने जा रही है। इस ऐप में कॉमन योग प्रोटोकॉल के आधार पर योग प्रशिक्षण के कई विडियोज दुनिया की अलग अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे।

 

खबरें और भी हैं...