दैनिक भास्कर हिंदी: कांग्रेस सरकार कराएगी व्यापमं घोटाले की जांच

January 5th, 2019

हाईलाइट

  • मध्य प्रदेश सरकार कराएगी व्यापम घोटाले की जांच
  • कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान पर कई आरोप लगाए
  • व्यापम घोटाले में 60 लोगों की जान गई

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले की जांच जल्द ही शुरु हो सकती है। प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ने इस घोटाले से जुड़े लोगों को न बख्शे जाने की बात कही है। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने लगभग 60 लोगों की जान ले चुके व्यापमं घोटाले को जमकर उठाया था।

व्यापमं का नाम 'प्रफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड'
व्यापमं घोटाले के बाद पिछली सरकार ने इसका नाम बदलकर ‘प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड’ कर दिया था। राज्य में सत्ता बदलते ही एक बार फिर व्यापमं की जांच कराए जाने की मांग तेज हो गई है। एमपी के गृहमंत्री  बाला बच्चन ने शुक्रवार को मीडिया से चर्चा करते हुए कहा, व्यापमं घोटाले में जो भी शामिल हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। सरकार आवश्यक कार्रवाई करेगी।

दिग्विजय ने 27000 पन्ने के दस्तावेज पेश किए
मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान व्यापमं को लेकर कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान पर कई आरोप लगाए थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल ने कहा था कि पहली बार जब्त हुए डेटा में व्यापमं के माध्यम से प्रवेश कराने वाले सिफारिशकर्ता के तौर पर 48 बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का नाम और मिनिस्टर वन, मिनिस्टर टू और मिनिस्टर थ्री के साथ-साथ पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का नाम भी शामिल है लेकिन सीबीआई उन्हें बचा रही है। सीबीआई तथ्यों की अनदेखी कर रही है, इसीलिए दिग्विजय ने मुकदमा दायर किया है। दिग्विजय ने कुल 27000 पन्ने के दस्तावेज पेश किए हैं।

 

 

खबरें और भी हैं...