comScore

ISRO: अंतिरक्ष से सरहदों की निगेहबानी करेगी इसरो की आंख, कार्टोसैट-3 होगा लॉन्च

ISRO: अंतिरक्ष से सरहदों की निगेहबानी करेगी इसरो की आंख, कार्टोसैट-3 होगा लॉन्च

हाईलाइट

  • 13 अमेरिकी सैटेलाइट के साथ इसरो लॉन्च करेगा कार्टोसैट-3
  • पहली सैटेलाइट 25 नवंबर को लॉन्च करने की योजना है
  • कार्टोसैट-3 का वजन लगभग 1500 किलोग्राम है

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। इसरो नए मिशन की तैयारी में जुटा हुआ है। इसरो तीन अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट लॉन्च करने वाला है। पहली सैटेलाइट 25 नवंबर  और बाकी की 2 दिसंबर को लॉन्च करने की योजना है। इन सैटेलाइट का इस्तेमाल मौसम की जानकारी और सैन्य सुरक्षा में किया जाएगा। तीन सैटेलाइट के अलावा पीएसएलवी रॉकेट से दो दर्जन से ज्यादा नैनो और माइक्रो सैटेलाइट्स लेकर जाएंगे। 

पीएसएलवी सी-47 रॉकेट को 25 नवंबर को श्रीहरिकोटा से सुबह करीब 9.30 बजे लॉन्च किया जाएगा। इसके साथ सैटेलाइट कार्टोसैट-3 और अमेरिका के 13 कमर्शियल नैनोसैटेलाइट्स भी भेजे जाएंगे। कार्टोसैट-3 को 509 किलोमीटर ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा। बता दें कार्टोसैट-3  का वजन लगभग 1500 किलोग्राम है।  

यह थर्ड जेनरेशन के एडवांस्ड हाई रेजोल्यूशन वाले सैटेलाइटों में पहला है। इसे पृथ्वी की कक्षा में 97.5 डिग्री झुकाव पर स्थापित किया जाएगा। कार्टोसैट-3 किसी भी मौसम में धरती की तस्वीरें ले सकता है। इससे पहले इसरो ने 22 मई को सर्विलांस सैटेलाइट रीसैट-2बी और एक अप्रैल को इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट को लॉन्च किया। यह दुश्मनों के रडार पर नजर रखनें में सहायक है। 

कमेंट करें
XxDHp