दैनिक भास्कर हिंदी: कब, क्या और कहां, PAK के 87 फीसदी हिस्से पर ISRO की नजर

February 28th, 2019

हाईलाइट

  • पाकिस्तान के 87 फीसदी पर नजर रख रहा है इसरो
  • ISRO के सैटलाइट्स से पाकिस्तान के 87 हिस्से की HD क्वॉलिटी की मैपिंग की जाती है।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। पाकिस्तान पर जल,थल और वायुसेना के अलावा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की नजर भी बनी है। अंतरिक्ष में भारत का डंका बजाने वाला इसरो भारत-पाकिस्तान के बीच चल रही तनावपूर्ण स्थिति में अहम भूमिका निभा रहा है। पाकिस्तान में कब, कहां और क्या हो रहा है। इस पर इसरो सैटेलाइटस् नजर रखते हैं और HD क्वॉलिटी की मैपिंग करते हैं, जो बालाकोट एयरस्ट्राइक जैसे ऑपरेशंस में सेना के लिए महत्वपूर्ण इनपुट होते हैं।

भारतीय सैटलाइट्स पाकिस्तान के कुल 8.8 लाख वर्ग किलोमीटर के भूभाग में से 7.7 लाख वर्ग किलोमीटर यानी पाक के 87 फीसदी हिस्से पर नजर रखने में सक्षम हैं और भारतीय कमांडर्स को 0.65 मीटर तक की HD तस्वीरें दे रहे हैं। भारत की यह क्षमता दूसरे पड़ोसी देशों के लिए भी है। हमारे सैटलाइट्स 14 देशों के कुल 55 लाख वर्ग किलोमीटर हिस्से को मैप कर सकते हैं, लेकिन चीन को लेकर जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।

बता दें कि भारत का इन्टग्रेटिड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम भारत को पाकिस्तान के घरों और बरामदों को देखने में सक्षम है। भारतीय एयरफोर्स ISRO से बहुत खुश है। जिन बड़े सैटलाइट्स ने सुरक्षाबलों की सहायता की है उनमें, कार्टोसैट सीरीज के सैटलाइट्स, GSAT-7 और GSAT-7A, IRNSS, माइक्रोसैट, रिसैट और HysIS शामिल हैं। यदि इंडिविजुअल स्पेसक्राफ्ट को भी गिन लें तो 10 से अधिक ऑपरेशनल सैटलाइट्स सेना के इस्तेमाल में हैं।